IIT कानपुर के प्रोफेसर का दावा:यूपी में फरवरी में आएगी तीसरी लहर, पहले से घातक हो सकता है संक्रमण

कानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आईआईटी कानपुर। - Dainik Bhaskar
आईआईटी कानपुर।

मुंबई में तीसरी लहर की पीक 15 से 20 जनवरी तक आ सकती है, यह कहना है आईआईटी कानपुर प्रो मणींद्र अग्रवाल का। उन्होंने आगे बताया, जिस तरह से देश में मरीजों की संख्या बढ़ रही है उसे देखते हुए तीसरी लहर बहुत जल्द मुंबई के साथ साथ अन्य राज्यों मई फैल सकती है।

प्रो अग्रवाल के मुताबिक एक सप्ताह बाद दिल्ली समेत देश के सभी प्रमुख शहरों में कोरोना संक्रमण का विस्तार हो जायेगा की, लोग समझ नहीं पा रहे है। दिल्ली और मुंबई के अलावा ये नया वेरिएंट हर जगह फैलेगा, और कोहराम मचाएगा। अपनी स्टडी के बारे बताते हुए उन्होंने कहा कहा कि पीक के बारे में जो मैंने स्टडी के आधार पर आकलन रिपोर्ट प्रस्तुत की है उससे तो यही लग रहा है।

आईआईटी कानपुर के प्रो मणींद्र अग्रवाल।
आईआईटी कानपुर के प्रो मणींद्र अग्रवाल।

यूपी में फरवरी में आएगा पीक
आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो मणींद्र अग्रवाल ने कोरोना की पहली व दूसरी लहर की तरह तीसरी लहर के आने से पहले ही अपने गणितीय मॉडल सूत्र के आधार पर स्टडी शुरू कर दी है। प्रो अग्रवाल ने कहा कि मुंबई में जब 15 जनवरी तक पीक आएगा, तब रोजाना 25 से 30 हजार संक्रमित केस मिलेंगे। हालांकि 19 फरवरी तक स्थिति बिल्कुल सामान्य होने के आसार दिख रहे है। लेकिन दिल्ली, लखनऊ, कानपुर समेत अन्य प्रमुख शहरों में मिले रहे केसों के आधार पर स्टडी की जा रही है। एक सप्ताह बाद स्टडी का कुछ निष्कर्ष सामने आएगा। फिलहाल वर्तमान स्थिति को देखते हुए यूपी में फरवरी में तीसरी लहर का पीक पकड़ेगी।

लॉकडाउन भी लगाया जा सकता है...?
जब लॉकडाउन के बारे में बात की तो उन्होंने कहा, इसके लिए केंद्र और राज्य सरकार ही सही बात बता पाएगी क्योंकि हमारा काम सिर्फ हर राज्य और शहर में किस तरह से फैलेगा कोरोना वो बताना है। कई राज्यों की सरकारों ने नाईट कर्फ्यू शुरू कर दिया है। हम लोगों को इसकी चैन तोड़नी है वो लॉकडाउन से ही टूट सकती है। इसका भी विकल्प सरकार निकाल लेगी।

खबरें और भी हैं...