• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • There Is Not A Single Active Case In The City, The Health Department Said It Is Very Important To Be Careful, There Is No Laxity In Testing Kanpur

कोरोना मुक्त हुई औद्योगिक राजधानी:शहर में एक भी एक्टिव केस नहीं, स्वास्थ्य विभाग ने कहा सावधानी बरतनी बेहद जरूरी, टेस्टिंग में कोई ढिलाई नहीं

कानपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

देश साल पहले शुरू हुए कोरोना में 23 मार्च 2020 की तारीख काफी महत्व रखती है। यह वही तारीख है जब कानपुर में कोरोना का पहला मामला सामने आया था। इसके बाद शायद ही ऐसा कोई ऐसा दिन गया हो, जब कानपुर में कोरोना के केस शून्य पर आए हों। कोरोना की दो लहरों से बुरी तरह जूझने के बाद कानपुर के लिए सबसे बड़ी राहत की खबर है। रविवार देर रात सीएमओ और जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार आखिरी एक्टिव केस भी होम आइसोलेशन में स्वस्थ हो गया। इसके साथ ही रविवार को ऐसा मौका भी आया, जब कानपुर में कोरोना का एक भी एक्टिव केस नहीं पाया गया।

लेकिन अभी सावधानी बरतनी पड़ेगी...
जिस तरह से शहर में लोग मास्क और कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर रहे है उस हिसाब से आने वाले समय में लोगों को ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ सकती है। चाहे बैंक हो या फिर बाजार कहीं पर भी प्रोटोकॉल का एलन नहीं किया जा रहा है। शहर में लोग आराम से धारा 144 लागू होने के बावजूद झुण्ड या जुलूस निकाल रहे है। प्रशासन भी इन लोगों पर कोई सख्त कार्यवाही नहीं कर रहा है। शहर में आराम से जगह जगह चुनावी जुलूस निकल रहे है। इस बारे में जब कमिश्नर ऑफ़ पुलिस असीम अरुण से बात करनी चाही तो उन्होंने व्यस्त होने का बहाना बनाते हुए बात करने से मना कर दिया।

आईआईटी प्रोफेसर ने चेताया था...
आईआईटी कानपुर के प्रो. मणीन्द्र अग्रवाल ने पहले ही चेताया था कि कोरोना की तीसरी लहर तो नहीं आएगी, लेकिन कभी भी इसका नया म्युटेंट या वेरिएंट आ सकता है। इसलिए हर व्यक्ति हो प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ेगा, नहीं तो आने वाले भविष्य में इसके बुरे परिणाम देखने को मिल सकते है।

शहर से कोरोना खत्म, लेकिन टेस्टिंग तेजी पर...
इन सब के बावजूद कानपुर में कोरोना टेस्टिंग तेजी से जारी है। रविवार को भी 3621 लोगों की जांच की गई। बता दें कि डेढ़ साल से अधिक समय से कानपुर कोरोना से मजबूती से लड़ाई कर रहा है। दूसरी लहर में ऐसा मंजर भी आया, जिसे शायद ही कोई याद करना चाहे। इस बीच में सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 82,927 मामले कोरोना के आए। इसमें से 1905 लोगों की मौत हुई, जबकि 11395 लोग अस्पताल से स्वस्थ हुए, वहीं 69627 लोग होम आइसोलेशन में ठीक हुए। 23 मार्च 2020 के बाद तीन अक्टूबर 2021 रविवार का दिन कानपुर के लिए सबसे बड़ी राहत लेकर आया। इस बारे में सीएमओ डॉ. नेपाल सिंह ने बताया कि कानपुर में अब कोरोना के एक्टिव केस शून्य हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग में किसी तरह की ढिलाई नहीं बरती जाएगी। उन्होंने लोगों से लापरवाही न बरतने की भी अपील करते हुए कोविड गाइडलाइन का पालन करने को कहा है।

खबरें और भी हैं...