• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • To Save The MLAs From Harm, The Rebel Councilors Got Home Before They Changed Their Party, Kanpur Nagar Nigam, Kanpur BJP Parshad, Nankari, Shastri Nagar, Parshad Raghvendra Mishra, Nirmala Mishra, BJP, Kanpur

BJP में भगदड़ से निष्कासन हो रहे वापस:बागी पार्षदों के पार्टी बदलने से पहले ही कराई घर वापसी; 2 का निष्कासन रद्द

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर में भाजपा ने 2 पार्षदों का निष्कासन रद्द कर उनकी पार्टी में वापसी कराई। - Dainik Bhaskar
कानपुर में भाजपा ने 2 पार्षदों का निष्कासन रद्द कर उनकी पार्टी में वापसी कराई।

भाजपा में मंत्रियों और विधायकों की भगदड़ के बाद कानपुर में पार्टी के निष्कासित पार्षदों को लेकर डैमेज कंट्रोल शुरू हो गया है। जिन्होंने पहले बगावत की थी, मौके की नजाकत देखकर भाजपा उन्हें पुचकार कर घर वापसी करा रही है। इसी कड़ी में कानपुर में भाजपा ने 2 पार्षदों का निष्कासन रद्द कर उनकी पार्टी में वापसी कराई।

6 साल के लिए किए गए थे निष्कासित
भाजपा में वापसी करने वाले पार्षद शास्त्रीनगर से राघवेंद्र मिश्र और नानकारी से निर्मल मिश्रा हैं। महापौर से अनबन के चलते जनवरी, 2020 में नगर निगम कार्यकारिणी चुनावों में राघवेंद्र मिश्र बगावत कर कार्यकारिणी का चुनाव लड़े थे। इसी चुनाव में निर्मल मिश्रा भी उतरी थीं।

भाजपा में हुई फूट का असर यह हुआ कि राघवेंद्र तो चुनाव जीत गए, लेकिन निर्मल मिश्रा को हार का मुंह देखना पड़ा था। इसके बाद पार्टी का शहर नेतृत्व दोनों से नाराज हो गया। फिर दोनों पार्षदों को 6 साल के लिए पार्टी ने निष्कासित कर दिया था।

पार्टी ने रद्द किया निष्कासन
इस बीच, विधानसभा चुनावों के ऐलान के बाद विपक्षी दलों ने सेंधमारी तेज की। इससे बड़े नेताओं का पलायन शुरू हो गया। इसके बाद कानपुर में भी संगठन सक्रिय हो गया। दोनों पार्षदों ने भाजपा क्षेत्रीय विधायकों के खिलाफ भी मोर्चा खोल दिया था। दूसरी पार्टी में जाने की चर्चाओं के चलते भाजपा ने दोनों पार्षदों की ससम्मान वापसी कराना ही बेहतर समझा। दोनों को पार्टी के उत्तर जिलाध्यक्ष सुनील बजाज ने फोन कर नवीन मार्केट स्थित कार्यालय बुलाया। उन्होंने दोनों पार्षदों का निष्कासन रद्द करने का ऐलान किया।

दूसरी पार्टी में जाने की थी तैयारी
सुनील बजाज ने बताया कि दोनों पार्षदों के अलावा आप समेत अन्य कुछ लोगों को भी भाजपा में शामिल कराया गया है। बता दें कि एक दिन पहले ही इस बात की चर्चा तेज हो गई थी कि नगर निगम में भाजपा के कुछ पार्षद पाला बदलने की तैयारी में जुटे हैं। इन्हीं चर्चाओं के बाद संगठन सक्रिय हुआ। अब जो नाराज है, उनसे गिले-शिकवे दूर करने की योजना बनाई गई है।