पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

व्यापारियों का हंगामा:GST अधिकारियों के उत्पीड़न से तंग आकर व्यापारी ने किया सुसाइड; व्यापारियों ने कार्रवाई की मांग को लेकर किया हंगामा

कानपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अधिकारियों के रवैये से नाराज व्यापारियों ने किया हंगामा। - Dainik Bhaskar
अधिकारियों के रवैये से नाराज व्यापारियों ने किया हंगामा।

व्यापारी साथी के सुसाइड से आक्रोशित व्यापारियों और उद्यमियों ने लखनपुर स्थित राज्य जीएसटी कार्यालय में प्रदर्शन किया। जीएसटी अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि व्यापारी को सुसाइड के लिए मजबूर किया गया। बता दें कि लोहा व्यापारी राम अवतार गुप्ता ने 9 जून 2021 को सुसाइड कर लिया था।

फीटा के महामंत्री उमंग अग्रवाल ने बताया कि दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का ज्ञापन दिया है। चेताया कि यदि 14 जून तक दोषी अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं हुई तो कानपुर का व्यापारी सड़कों पर उतर कर संर्घष करेगा। मुख्यमंत्री कार्यालय तक आंदोलन किया जाएगा। व्यापारियों ने राज्य जीएसटी कार्यालय में एडिशनल कमिश्नर ग्रेड 1, पी के सिंह को ज्ञापन दिया।

ये है पूरा मामला
व्यापारियों ने बताया कि मृतक व्यापारी अपनी बेटी के नाम पर लोहा कारोबार की फर्म पंजीकृत करा कर उनका स्वर्गीय दामाद काम कर रहा था और यह फर्म खंड 22 में पंजीकृत है। जिसके जिम्मेदार अधिकारियों ने अचानक मई में फर्म का निरीक्षण किया और मनगढ़ंत कमियां निकाल कर के खंड 22 जे अधिकारियों द्वारा व्यापारी व उनकी पत्नी को कार्यालय में अत्यधिक प्रताड़ित किया, डराया व धमकियां दी। फर्म निरस्त बड़ी मात्रा में रिकवरी निकालने को लेकर अधिकारियों द्वारा डराया व धमकाया गया। जिसके डर से व्यापारी ने सुसाइड कर लिया।

अधिकारी ने झाड़ा रौब
मीटिंग में ज्वाइंट कमिश्नर कार्यपालक D रेंज राम सरोज ने अधिकारियों की कार्रवाई को सही बताया। इस पर व्यापारियों ने उनका विरोध किया और ऑफिस के बाहर नारेबाजी की। मामले में एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-1 पीके सिंह ने बताया कि इस मामले में निष्पक्ष जांच करवाएंगे। संगठन का कहना सही है तो जो भी जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

व्यापारियों की मांगे

  • पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच की जाए।
  • दोषी अधिकारियों को तत्काल निलंबित कर बर्खास्त किया जाए।
  • व्यापारी की धर्मपत्नी को विभाग द्वारा 50 लाख का मुआवजा दिया जाए।
खबरें और भी हैं...