आत्मनिर्भर बनाने के लिये कौशल विकास केंद्रों में दाखिले शुरु:कोर्स में तीन से छह महीने तक दिया जाएगा प्रशिक्षण

कानपुर।2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आत्मनिर्भर भारत - Dainik Bhaskar
आत्मनिर्भर भारत

युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक बार फिर से प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू कर दिए गए हैं। इसके तहत महानगर के 26 कौशल विकास केंद्रों में संचालित विभिन्न कोर्सों में दाखिले शुरु हो गए हैं। दाखिले के लिये अभ्यर्थियों को आईटीआई पांडु नगर परिसर स्थित कौशल विकास मिशन के कार्यालय में आकर संपर्क करना होगा। यहां उनकी रुचि के मुताबिक लगभग एक दर्जन से ज्यादा कोर्स का ऑप्शन उपलब्ध रहेगा। उनमें से मन मुताबिक कोई भी कोर्स युवक युवतियां चुन सकते हैं।

शैक्षणिक आधार पर सिखाया जाएगा कोर्स

जिला प्रबंधक मुकेश श्रीवास्तव ने बताया कि शिक्षा के आधार पर आने वाले अभ्यर्थियों को कोर्स शिखाया जायेगा। ताकि वह बेहतरी से प्रशिक्षण ले सकें और आत्मनिर्भर बन सकें। उन्होने बताया कोर्स की अवधि तीन से छह महीने तक है। प्रशिक्षण निशुल्क दिया जाएगा। अभ्यर्थी को दाखिले के लिए शै​क्षणिक दस्तावेज, आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छायाप्रति और चार रंगीन फोटो लानी होगी। बताया कि इच्छुक अभ्यर्थी जल्द से जल्द दाखिला लें ले। केंद्र निर्धारित हो चुके हैं। बैच बनना शुरु हो गए हैं। विप्रो और सेंट्रल फुटवियर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट आगरा जैसे प्रतिष्ठित संस्थान प्रशिक्षण प्रदाता बने हैं।

एक दर्जन से अधिक कोर्स शिखाये जाएंगे,

मुकेश श्रीवास्तव ने बताया कि लगभग इन दर्जन से ज्यादा कोर्स सिखाये जायेगे। जिनमे से असिस्टेंट इलेक्ट्रीशियन, रिटेल ट्रेनी एसोसिएट, मोबाइल फोन हार्डवेयर रिपेयर टेक्नीशियन, सोलर पैनल इंस्टॉलेशन टेक्नीशियन, डोमेस्टिक डाटा एंट्री ऑपरेटर, हॉस्पिटल फ्रंट डेस्क क्वार्डिनेटर, फैशन डिजाइनर, सेल्स एक्जीक्यूटिव, कटर (फुटवियर), रिटेल सेल्स कम कैशियर, जनरल ड्यूटी असिस्टेंट (हेल्थकेयर), ब्यूटी थैरेपिस्ट, रिटेल टीम लीडर, सेल्फ एंप्लायड टेलर, आटोमोटिव टेलीकॉलर, स्टिचिंग ऑपरेटर और टू व्हीलर सर्विस टेक्नीशियन आदि प्रमुख है।

खबरें और भी हैं...