पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दो पक्षों में विवाद, एक की मौत:उन्नाव में पेड़ों की बिक्री के पैसों को लेकर दो गुट भिड़े, चार लोग घायल, एक ने अस्पताल में तोड़ा दम

उन्नाव13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप। - Dainik Bhaskar
पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप।

उत्तर प्रदेश के उन्नाव के बहुचर्चित मांखी थाना क्षेत्र में गुरुवार रात दो पक्षों में हुई मारपीट में एक की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल हुए हैं। सभी को अस्पताल भेजा गया है। विवाद पेड़ों की बिक्री के पैसे को लेकर हुआ था।

पहले सिर्फ कहासुनी हो रही है। एक पक्ष ने अपने साथियों को बुला लिया। मारपीट होने लगी। एक पक्ष के चार लोग घायल हो गए जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डाक्टर ने एक की हालत नाजुक होने पर हैलट अस्पताल रेफर कर दिया जहां देर रात उसकी मौत हो गई।

गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात
मृतक के गांव में बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ ही स्वाट टीम तैनात कर दी गई है। घटना की जानकारी पर सदर विधायक पंकज गुप्ता पीड़ित के घर पहुंचे और हर सम्भव सहयोग का अश्वासन दिया। मृतक के पिता ने तीन नामजद व पंद्रह अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी। पुलिस ने हत्या का मुकद्दमा दर्ज कर तीन को हिरासत में ले लिया है।

भदियार गांव के मजरा गरवर खेडा गांव निवासी बाबू पुत्र मैकू लाल ने पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया कि 01 जून को इसी थाना क्षेत्र के थाना गांव निवासी रफीक को यूके लिप्टिस के पेड दस हजार रुपए में बेचे थे। 03 जून को रफीक देर रात अपने पुत्र के साथ पीड़ित के घर पहुंचा और आठ हजार रुपए दिए बाकी के पैसे को लेकर विवाद होने लगा। रफीक ने फोन कर गांव से डेढ़ दर्जन लोगों को मौके पर बुला लिया और दोनों पक्षों के बीच मारपीट होने लगी।

ये हुए घायल
सुशील, विनोद, मनोज, बीनू, देवराज व बचाने में मां कमला घायल हो गई घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां डाक्टर ने सुशील की हालत नाजुक होने पर हैलट अस्पताल रेफर कर दिया, जहां पांच जून की रात को सुशील 38 की मौत हो गई।

तीन भाईयों में छोटा था मृतक
मृतक तीन भाईयों के बीच छोटा था, उससे बड़ा हरिपाल है जबकि उससे छोटा इंद्रेश। दो साल पहले पानीपत में लूट के दौरान हत्या कर दी गई थी। मृतक मजदूरी कर परिवार पाल रहा था पुत्र रोहित 15, पुत्री अंजली 11, राहुल 8 है। पत्नी सुनीता पति की मौत से आहत हैं।

तीन जून को हुई थी मारपीट की घटना
तीन जून की रात को हुई मारपीट की घटना में मृतक के पिता बाबू ने शरीफ, इकबाल व आफताब सहित बीस अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी थी जिससे पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था उसी रात दूसरे पक्ष के शरीफ ने बाबू, सुशील, विनोद, मनोज, बीनू तथा दस अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था पुलिस ने एस सी एक्ट सहित दोनों पक्षों की तहरीर पर मामला दर्ज कर लिया था।

पुलिस के रवैये से नाराज है पीड़ित परिवार
परिजनों का कहना है कि शरीफ ने घर पर चढ़कर मारपीट की थी। घटना की रात को पीआरवी पुलिस को सूचना दी गई। वह मौके पर पहुंची जरूर लेकिन वापस लौट गई। पुलिस ने दोनों पक्षों की तहरीर पर मुकद्दमा दर्ज किया था जबकि मारपीट दूसरे पक्ष द्वारा घर पर की गई।

खबरें और भी हैं...