देर से जागे जिम्मेदार, माननीय मंत्री ने की बैठक:मेडिकल कॉलेज में बुखार और डेंगू के चल रहे इलाज को समझा, कोरोना की तीसरी तैयारियों को भी परखा

कानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना अधिकारियों से बात करते हुए - Dainik Bhaskar
औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना अधिकारियों से बात करते हुए

CM योगी आदित्यनाथ के सख्त तेवर देखने के बाद कानपुर प्रशासन और हैलट प्रशासन सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीजों को अच्छा इलाज दिलाने में लगा गया है। रोजाना डीएम, सीएमओ और अन्य अधिकारियों के साथ बैठकों का दौर चल रहा है। इसी क्रम में रविवार को औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना शहर में हुई इतनी मौतों के बाद जागे, और उन्होंने पहली बैठक डीएम, सीएमओ और कमिश्नर के साथ बैठक की।

देर से जागे मंत्री जी...
शहर में बुखार और डेंगू से लोगों की जान जा रही थी, लेकिन माननीय मंत्री जी एक बार भी अपने चुनावी क्षेत्र में झांकने तक नहीं गए। उन्होंने रविवार को सीधे डीएम और कमिश्नर को फोन करके बैठक करने के आदेश दिये। यह बैठक शहर में डेंगू,मलेरिया व कोरोना की तीसरी लहर की तैयारियों के सम्बंध में की गयी। बैठक में उन्होंने सीएमओ को निर्देशित करते हुए कहा कि समस्त सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीजों को बेहतर इलाज दिया जाए। किसी भी प्रकार के संसाधनों की कमी नहीं होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि बेहतर प्रबंधन से हम बड़ी से बड़ी महामारी पर कंट्रोल कर सकते हैं। इसके लिए पूरी क्षमता से कार्य करना है और समस्त डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मियों को कड़ी मेहनत करनी है।

डेंगू की टेस्टिंग बढ़ाने के लिए कहा मंत्री जी ने, जो पहले ही बढ़ाई जा चुकी है...
मंत्री सतीश महाना ने बैठक में डेंगू की टेस्टिंग बढ़ाने के लिए कहा, जो पहले ही बढ़ाई जा चुकी है। इसके आलावा सतीश महाना ने नगर निगम में स्थापित कंट्रोल रूम नम्बर 18001805159 पर अब डेंगू, मलेरिया व वायरल फीवर से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी देने के लिए कहा। शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में साफ सफाई होती रहे इसके लिए कार्य योजना बना कर अभियान के तौर पर सफाई कराई जाए तथा लोगों में सफाई के लिए जागरूकता बढ़ाने के लिए कहा।

कोरोना की तैयारियां के बारे में अब समझा मंत्री ने...
शहर के सरकारी अस्पतालों में जब लोग डेंगू और बुखार से मरे रहे है तब मंत्री जी को कोरोना की तीसरी लहर याद आई। जब सरकारी अस्पतालों में तीसरी लहर की तैयारियां चल रही थी तब एक बार भी मंत्री जी ने इन अस्पतालों का जायजा नहीं लिया, लेकिन आज हुई बैठक में कोरोना की तीसरी लहर की चर्चा जरूरी कर डाली।

खबरें और भी हैं...