पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आंखों के सामने उजड़ा सुहाग:इटावा में सपा नेता के भाई की गोली मारकर हत्या; पत्नी बोली- मेरी आंखों के सामने घात लगाए बदमाशों ने पति को घेरकर मारा

इटावा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वारदात स्थल पर जांच करते पुलिस के अधिकारी। - Dainik Bhaskar
वारदात स्थल पर जांच करते पुलिस के अधिकारी।
  • सदर कोतवाली क्षेत्र के कबीरगंज मोहल्ले का मामला
  • पीड़ित परिवार ने चुनावी रंजिश में कुछ लोगों पर हत्या का आरोप लगाया

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में गुरुवार रात एक सपा नेता के भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बदमाशों ने इस वारदात को BJP विधायक सरिता भदौरिया के घर से चंद कदम की दूरी पर घात लगाकर अंजाम दिया। घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस व फॉरेंसिक की टीम को मौके से कई खाली खोखे बरामद हुए हैं। अंदेशा है कि कई हमलावर थे। मृतक की पत्नी ने चुनावी रंजिश में मोहल्ले के कुछ लोगों पर हत्या करने का शक जताया है।

घर से महज 50 मीटर दूरी की वारदात
यह पूरा मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के कबीरगंज मोहल्ले का है। मकसूद पुरा वार्ड के पूर्व सभासद व सपा नेता विमल वर्मा का भाई मोनू उर्फ जितेंद्र वर्मा (34 साल) ट्रांसपोर्टर था। गुरुवार रात वह बाइक से घर जा रहा था। लेकिन घर से महज 50 मीटर की दूरी पर घात लगाए हमलावरों ने मोनू पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। मोनू तीन गोलियां लगने से मौके पर ही गिर पड़ा। फायरिंग की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़े। मोनू की पत्नी निधि वर्मा भी मौके पर पहुंची। लेकिन तब तक मोनू की मौत हो चुकी थी। इसके बाद हमलावर मौके से फरार हो गए।

वारदात की सूचना पाकर SP सिटी प्रशांत कुमार, CO सिटी राजीव प्रताप सिंह, कोतवाल बीएस सिरोही फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। फॉरेंसिक टीम को बुलाकर मौके पर गहनता से पड़ताल की गई।

पत्नी ने कहा- जब मैं पहुंची तो हमलावर फरार हुए

मृतक की पत्नी निधि वर्मा ने बताया कि उनके पति की गाड़ी की आवाज सुनकर वह दरवाजे पर आकर खड़ी हो गई थी, तभी छह से अधिक असलहाधारी बदमाशों ने मोनू को गोलियों से भूनते हुए उसकी हत्या कर दी। वह अपने पति को बचाने के लिए दौड़ीं, लेकिन तब तक हमलावर फरार हो चुके थे। वे हमलावरों को पहचानती हैं। उन्होंने बताया कि उनके पति की हत्या नगरपालिका के सभासद चुनाव में प्रभावशाली व मजबूत दावेदार होने के कारण रंजिश में हत्या की गई है। हत्यारे पड़ोस के रहने वाले हैं।

वहीं मृतक के भाई व पूर्व सभासद विमल वर्मा ने बताया कि उनका भाई सभासद के आगामी चुनाव के लिए तैयारी कर रहा था। जिसको लेकर कुछ राजनैतिक लोग रंजिश मान रहे थे। इसलिए उनके भाई को घर आते मार दिया गया।

मोनू उर्फ जितेंद्र वर्मा।- फाइल फोटो
मोनू उर्फ जितेंद्र वर्मा।- फाइल फोटो

चुनावी रंजिश सामने आई, जल रही जांच

SP सिटी प्रशांत कुमार ने बताया कि थाना कोतवाली पुलिस को कंट्रोल रूम के द्वारा जानकारी मिली कि उनके क्षेत्र में मोनू वर्मा नामक एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। हत्या के पीछे चुनावी रंजिश सामने आई है। पत्नी ने मोहल्ले के कुछ लोगों पर आरोप लगाए हैं। पूरे मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।