मनीष की मौत में भी 'अवसर के होर्डिंग':पुलिस की बर्बरता से तबाह हुए परिवार की सरकार ने कुछ मदद की तो कानपुर के BJP नेताओं ने लगा दिए गुणगान के पोस्टर

कानपुर15 दिन पहले

शहर के जिस कारोबारी मनीष गुप्ता को यूपी पुलिस ने पीट-पीटकर मार डाला, उसके नाम पर भी कानपुर के भाजपा नेता प्रचार की राजनीति कर रहे हैं। शहर में अलग-अलग होर्डिंग लगाकर भाजपा नेताओं ने योगी सरकार को धन्यवाद दिया है। वैश्य समाज ने भी इस पर ऐतराज जताया है।

शहर में बधाई की ये होर्डिंग इस समय चर्चा का विषय बनी हुई है। मनीष की फोटो लगाकर भाजपाइयों ने मुख्यमंत्री योगी और विधायक को आर्थिक मदद करने और पत्नी को नौकरी देने के लिए धन्यवाद देने के लिये होर्डिंग लगवाए हैं। इसमे मुख्यमंत्री की फोटो के साथ भाजपाइयों ने अपनी फोटो भी लगाई है। इसमें गोविंद नगर के विधायक सुरेंद्र मैथानी की फोटो के साथ तक़रीबन छह से सात भाजपा नेता नज़र आ रहे हैं। शर्मनाक ये है कि अभी मृतक मनीष की तेरहवीं भी नहीं हुई है। घर में मातम का माहौल है।

विश्व वैश्य संगठन ने बताया भद्दा मजाक

मुख्यमंत्री और विधायक को आभार प्रकट करने वाली पोस्टर से वैश्य समाज में नाराजगी है। विश्व वैश्य संगठन के उपाध्यक्ष स्वतंत्र अग्रवाल ने कहा कि यह एक बेहूदा मजाक सा है। उन्होंने कहा कि मौत के मातम में आभार नही दिया जाता है। स्वतंत्र अग्रवाल ने आरोप लगाया कि वैश्य समाज के कुछ लोगों ने भाजपा नेताओं को खुश करने के लिए इस तरह की होर्डिंग लगाई है। उन्होंने कहा कि होर्डिंग को देखकर नही लगता कि वैश्य समाज के ये ठेकेदार थोड़ा भी गमगीन है, क्योंकि होर्डिंग में सभी के चेहरे मुस्कुराते हुए हैं। जबकि मनीष की अभी अंतिम संस्कार की सभी रस्में भी पूरी नहीं हुई है। यदि इनको होर्डिंग लगानी ही थी तो मनीष के हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर लगानी चाहिए थी ना कि आभार व्यक्त करने की।

विधायक मैथानी बोले मुझे मालूम नहीं

होर्डिंग को देखने वाले भी होर्डिंग में पत्नी की सहायता का जिक्र करने को गलत मान रहे है। इस बारे में गोविन्दनगर विधायक सुरेंद्र मैथानी का कहना है, कि मेंरे संज्ञान में होर्डिंग नहीं है। मनीष मेरे क्षेत्र के थे, इसलिए उनके परिवार के प्रति मेरी जिम्मेवारी थी। इस तरह की होर्डिंग लगाना गलत बात है।

खबरें और भी हैं...