पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

BJP विधायक की बात में काला:कानपुर के MLA महेश त्रिवेदी ने PWD अफसरों से कहा- थोड़ा बहुत नमक में दाल का सिस्टम तो रहता है, लेकिन ये नहीं कि पूरी दाल ही पी जाएं

कानपुर3 महीने पहले
विधायक महेश त्रिवेदी ने गुरुवार को ट्रांसपोर्ट नगर में 13 करोड़ रुपए से बनने वाली दो सड़क का शिलान्यास किया।

कानपुर में किदवई नगर से भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी गुरुवार को ट्रांसपोर्ट नगर में पीडब्ल्यूडी के अफसरों को एक हैरान करने वाला ज्ञान दे गए। वह 13 करोड़ से बनने वाली दो सड़कों का शिलान्यास करने पहुंचे थे। मंच पर पहुंचे तो उन्होंने कहा कि थोड़ा बहुत नमक में दाल का सिस्टम तो सभी का रहता है। लेकिन ये नहीं है कि दाल ही हम पूरी पी जाएं। इसमें कोई आत्मा रोए नहीं और व्यवस्था भी चलती रहे। और...व्यवस्था के पक्ष में हम लोग काम करते रहें।

विधायक बोले- ये सब बातें फोन पर नहीं होती
विधायक महेश त्रिवेदी से पीडब्ल्यूडी के अफसरों ने दाल में नमक खाने का मतलब पूछा तो विधायक कुछ देर के लिए शांत हो गए। इसके बाद उन्होंने कहा कि ये सब बातें फोन पर नहीं होती हैं। घर आइए इस संबंध में बैठकर आमने-सामने बात होगी और बगैर जवाब दिए फोन काट दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि हम जांच भी कराएंगे
इस दौरान विधायक ने सड़क बनाने वाले पीडब्ल्यूडी के अफसरों को चेतावनी देते हुए कहा कि अभी फोन पर हमारी मुख्यमंत्री जी से बात हुई। हमने बताया कि हम सब लोग जाकर वहां पर पूजन करेंगे, लेकिन जब इसका उद्घाटन होगा, तो उसमें आपको रहना है। मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री जी ने कहा देखो- महेश जी एक शर्त है। इतनी लागत से सड़क बन रही है तो हम उसकी जांच भी कराएंगे। इसके बाद विधायक ने दाल में नमक के बराबर भ्रष्टाचार करने की नसीहत दे डाली।

विधायक ने अपने घर के सामने का पार्क छोटा करवा दिया
विधायक ने अपने घर के सामने का पार्क छोटा करवा दिया

पार्क छोटा करवा दिया, पेड़ों को भी थी कटवाने की तैयारी
किदवई नगर विधानसभा के विधायक महेश त्रिवेदी का विवादों से पुराना नाता है। हाल ही में विधायक ने घर के बाहर सड़क चौड़ी कराने के लिए पार्क को चारो तरफ से छोटा करवा दिया और पेड़ कटवाने की तैयारी कर रहे थे। वजह ये थी कि विधायक का काफिला उनके घर तक आता है तो गाड़ियों को घुमाने में दिक्कत होती है। पार्क की बाउंड्री तोड़कर पार्क तो छोटा कर दिया गया, लेकिन पेड़ कटने का क्षेत्रीय लोगों ने विरोध किया और आला कमान तक मामला पहुंचा तो वह ठंडे पड़ गए। फिलहाल पार्क का काम रोक दिया गया है।

खबरें और भी हैं...