पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • VVIP Treatment For International Cricketer Kuldeep Yadav In Vaccination: Special Vaccination Drive Was Organized For Kuldeep Yadav In The Guest House Of The Municipal Corporation, Photographed With The Mayor's Family; If The Dispute Escalated, The Administration Put Up A False Report

इंटरनेशनल क्रिकेटर को VVIP ट्रीटमेंट:उत्तर प्रदेश के गेस्ट हाउस में कुलदीप यादव के लिए स्पेशल वैक्सीनेशन ड्राइव; विवाद बढ़ा तो प्रशासन ने झूठी जांच रिपोर्ट लगा दी

कानपुर2 महीने पहलेलेखक: दिलीप सिंह
  • कॉपी लिंक
सोशल मीडिया अकाउंट्स में एक फोटाे मेयर कानपुर और दूसरी कुलदीप ने पोस्ट की है। - Dainik Bhaskar
सोशल मीडिया अकाउंट्स में एक फोटाे मेयर कानपुर और दूसरी कुलदीप ने पोस्ट की है।

उत्तर प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर दो तस्वीरें सामने आ रही हैं। एक ओर जहां गरीब वैक्सीन की एक डोज के लिए लंबी कतारों और स्लॉट की उपलब्धता को लेकर परेशान हैं। वहीं, किसी के लिए जिला प्रशासन और नगर निगम VVIP व्यवस्था करा रहा है। ऐसा ही एक मामला कानपुर में सामने आया।

जिस देश में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसी बड़ी हस्तियों ने हॉस्पिटल जाकर प्रोटोकॉल के तहत कोरोना वैक्सीन लगवाई। वहीं, कानपुर जिला प्रशासन और नगर निगम ने इंटरनेशनल क्रिकेटर कुलदीप यादव के वैक्सीनेशन के लिए VVIP इंतजाम किए।

कुलदीप को 15 मई को नगर निगम के गेस्ट हाउस में वैक्सीन लगाई गई। इसके बाद मेयर प्रमिला पांडेय और उनके परिवार संग कुलदीप ने फोटो खिंचवाई। विवाद तब शुरू हुआ, जब कुलदीप ने फोटोज अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर शेयर की। खुद के बचाव के लिए DM ने जांच तो करवाई, लेकिन झूठी रिपोर्ट लगवा दी।

प्रशासन ने कहा- अस्पताल में ही हुआ वैक्सीनेशन
वैक्सीनेशन की जो फोटो क्रिकेटर कुलदीप यादव ने शेयर की, उसमें साफ दिख रहा है कि वह नगर निगम के गेस्ट हाउस में हैं। हालांकि, जिला प्रशासन की जांच रिपोर्ट में कुछ और ही दावा किया गया है। सिटी मजिस्ट्रेट हिमांशु गुप्ता ने जांच के नाम पर एक झूठी रिपोर्ट तैयार की। इसमें दावा किया कि कुलदीप ने जो फोटो शेयर की है वो झूठी है। उनका वैक्सीनेशन जागेश्वर हॉस्पिटल में हुआ। ये भी लिखा कि उन्हें नर्स ने वैक्सीन लगवाई है, जबकि फोटो में कोई लड़का वैक्सीन इंजेक्ट करते हुए दिख रहा है।

वैक्सीनेशन के बाद कुलदीप यादव ने मेयर के बेटे अमित पांडेय के साथ फोटो क्लिक करवाई।
वैक्सीनेशन के बाद कुलदीप यादव ने मेयर के बेटे अमित पांडेय के साथ फोटो क्लिक करवाई।

पहले भी झूठ बोलते रहे हैं अफसर

  • ये पहली बार नहीं है जब कानपुर जिला प्रशासन झूठी रिपोर्ट दे रहा है। पहले भी इनके अफसर झूठ बोलते रहे हैं। लगातार दो बार कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के बाद भी औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना पर कोई नहीं कार्रवाई की गई।
  • सतीश महाना 25 मई को बगैर मास्क पहने पुलिस कमिश्नर और बाकी अफसरों के साथ मीटिंग करने बैठे थे। सवाल खड़ा हुआ तो कमिश्नर खुद मंत्री के बचाव में उतर आए। दूसरी बार मंत्री सोशल डिस्टेंसिंग का माखौल उड़ाते दिखे। इस पर भी जब विवाद शुरू हुआ तो कमिश्नर ने मौन धारण कर लिया।

अपनी जांच रिपोर्ट से ही फंस गया प्रशासन
कुलदीप की तस्वीर को जिला प्रशासन झूठी बता रही है। उसकी जांच रिपोर्ट में जिस हॉस्पिटल का दावा किया गया है कि उस कैंपस में इतना अच्छा गार्डन ही नहीं बना है। इस अस्पताल की इमारत काफी पुरानी है। जो लगभग खंडहर में तब्दील हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...