• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • When She Was Pregnant, She Was Given Abortion Drugs, When Her Condition Worsened, The Teenager Told Her Ordeal, On The Father's Complaint, The FIR Of Gang Rape On The Brothers Of The Village

कानपुर में 16 साल की लड़की से गैंगरेप:सगे भाइयों ने अश्लील वीडियो बनाकर 5 माह तक दुष्कर्म, प्रेग्नेंट होने पर खिलाई दवा, हालत बिगड़ी, आरोपी गांव छोड़कर भागे

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़िता के पिता की तहरीर पर साढ़ थाने में दोनों सगे भाइयों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। दोनों फरार हैं।   - Dainik Bhaskar
पीड़िता के पिता की तहरीर पर साढ़ थाने में दोनों सगे भाइयों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। दोनों फरार हैं।  

कानपुर में एक किशोरी के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि गांव निवासी सगे भाइयों ने अश्लील वीडियो बनाकर 5 महीने तक उसके साथ दुष्कर्म किया। गर्भवती होने पर उसे गर्भपात की दवाएं खिला दी। इससे किशोरी की हालत बिगड़ गई, तब परिजनों को पूरे मामले की जानकारी हुई। पीड़िता के पिता की तहरीर पर साढ़ थाने में दोनों सगे भाइयों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। दोनों फरार हैं।

तहरीर के अनुसार, रूप सिंह ने फरवरी माह में 9वीं में पढ़ने वाली 16 वर्षीय लड़की को किसी बहाने से उसे घर बुलाया था। इस दौरान उसे बेहोश कर उसके साथ दुष्कर्म किया और मोबाइल से अश्लील वीडियो बना लिया। इसके बाद उसे वायरल करने की धमकी देकर रेप करता रहा। जब इसकी जानकारी उसके छोटे भाई गुलबदन को हुई तो उसने भी ब्लैकमेल करके रेप किया। इससे किशोरी गर्भवती हो गई। 29 जून को रूप सिंह ने उसे गर्भपात की दवाएं खिला दी। इससे किशोरी की हालत बिगड़ गई, तब जाकर पूरे मामले की जानकारी परिवार वालों को हुई। इसके बाद पिता की तहरीर पर साढ़ थाना प्रभारी संतोष सिंह ने आरोपी रूप सिंह और गुलबदलन सिंह के खिलाफ गैंगरेप, पाक्सो एक्ट, जान से मारने की धमकी समेत अन्य धाराओं में एफआईआर हुई है। गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

पुलिस पर समझौते के लिए दबाव बनाने का आरोप
पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया है कि मामले की जानकारी होने पर 30 जून को उन्होंने साढ़ थाना प्रभारी को दोनों भाइयों के खिलाफ तहरीर दी। थाना प्रभारी कार्रवाई करने की बजाय बेटी पर ही लांछन लगाते हुए समझौते का दबाव बनाते रहे। मामला अफसरों तक पहुंचा तब जाकर सोमवार रात को मामले में FIR दर्ज हो सकी।

किशोरी की हालत गंभीर
पुलिस ने किशोरी को पहले कांशीराम हॉस्पिटल में एडमिट कराया था, लेकिन हालत गंभीर होने के चलते उसे उर्सला के डफरिन अस्पताल रेफर कर दिया गया था। यहां से उसे हैलट रेफर कर दिया गया। इलाज कर रहे डॉक्टरों की मानें तो समय ज्यादा हो जाने के बाद गर्भपात की गोलियां दी है। किशोरी की हालत नाजुक बनी हुई है।

खबरें और भी हैं...