ओमिक्रॉन नहीं, उसके डर ने किया पूरा परिवार खत्म:कानपुर में पत्नी-दो बच्चों की हत्या करने वाले डॉक्टर का शव 10 दिनों बाद गंगा में मिला

कानपुर6 महीने पहले

कानपुर में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से डरकर पत्नी और बच्चों की हत्या कर फरार होने वाले डॉक्टर सुशील सिंह का भी शव मिल गया है। माना जा रहा है कि उन्होंने हत्या के बाद गंगा में कूदकर खुदकुशी कर ली थी। कानपुर के जाजमऊ स्थित सिद्धनाथ घाट में रविवार को उनका शव उफनाता मिला।

शव काफी दिनों पुराना बताया जा रहा है। परिजनों को भी शिनाख्त करने के लिए मौके पर बुलाया गया। 3 दिसंबर को डॉक्टर ने पत्नी और दो बच्चों की हत्या की थी। इंदिरा नगर के डिवनिटी अपार्टमेंट में रहने वाले डॉ. सुशील सिंह ने पत्नी के सिर पर भारी वस्तु से प्रहार करके और बच्चों को जहर देकर मार डाला था। इसके बाद उनका कुछ सुराग नहीं मिला था। उनकी आखिरी लोकेशन अटल घाट गंगा बैराज पर मिली थी। डॉक्टर की तलाश में डीसीपी वेस्ट बीबीजीटीएस मूर्ति समेत पांच टीमें जुटीं थीं।

डॉक्टर सुशील ने अपनी पत्नी के सिर पर वार करके हत्या की थी। बच्चों को जहर दे दिया था।
डॉक्टर सुशील ने अपनी पत्नी के सिर पर वार करके हत्या की थी। बच्चों को जहर दे दिया था।

भाई को मैसेज कर हो गया था फरार
आपको बता दें कि डॉक्टर ने घटना को अंजाम देने के बाद भाई को मैसेज कर पुलिस बुलाने को कहा था। भाई के पहुंचने से पहले ही आरोपी डॉक्टर मौके से फरार हो चुका था। पुलिस को क्राइम सीन से एक डायरी मिली थी, जिसमें डॉक्टर ने हत्या की वजह कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को बताया है।

नदी से डॉक्टर का शव निकालते गोताखोर।
नदी से डॉक्टर का शव निकालते गोताखोर।

डॉक्टर ने सुसाइड नोट में ये लिखा था
घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को डॉक्टर की डायरी मिली थी। इसमें लिखा था "अब और कोविड नहीं. यह ओमिक्रॉन अब सभी को मार डालेगा। अब और लाशें नहीं गिननी हैं। अपनी लापरवाही के चलते करियर के उस मुकाम पर फंस गया हूं, जहां से निकलना असंभव है। मेरा कोई भविष्य नहीं है। अत: में अपने होश-ओ-हवास में अपने परिवार को खत्म करके खुद को खत्म कर रहा हूं। इसका जिम्मेदार और कोई नहीं है।"

ये भी पढ़ें-

कानपुर में डॉक्टर ने पत्नी-2 बच्चों को मार डाला:नोट में लिखा- ओमिक्रॉन सबको मार डालेगा, भाई को किया मैसेज- पुलिस बुलाओ

खबरें और भी हैं...