पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंत्रीजी आप कानून से ऊपर हैं क्या?:बगैर मास्क मंत्री महाना ने पुलिस अफसरों के साथ मीटिंग की; कमिश्नर से कहा- कानून तोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई करें

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिंता है कि जरा सी लापरवाही से प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। इसके मैनेजमेंट को लेकर वह हर रोज जिलों में निरीक्षण कर रहे हैं। लोगों को कोविड नियमों का पालन कराने के लिए बोल रहे हैं, लेकिन उनके ही एक सीनियर मंत्री उनकी बात को अनसुना करते नजर आए। ये औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना हैं।

सतीश महाना ने 25 मई को कानपुर में पुलिस कमिश्नर, एसएसपी व अन्य पुलिस अफसरों के साथ कानून और अपराध को लेकर बैठक की थी। इसकी फोटो उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट की तो विवाद शुरू हो गया। इसमें अफसर तो मास्क पहने दिखे, लेकिन मंत्री महाना बगैर मास्क के दिखे। हैरानी की बात ये है कि वह अफसरों को लेकर निर्देश भी दे रहे थे कि जिले में सख्ती से कानून का पालन कराया जाए और नियम तोड़ने वालों पर कार्रवाई की जाए।

सपा प्रवक्ता ने मंत्री से पूछा- आप कानून से ऊपर हैं क्या?

सतीश महाना की इस फोटो पर समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता जूही सिंह ने कमेंट किया है। उन्होंने सतीश महाना को टैग करते हुए पूछा कि आपका मास्क कहां है मंत्री जी? आप कानून से ऊपर हैं क्या? उन्होंने पुलिस से मांग कि है कि आम लोगों की तरह मंत्री सतीश महाना पर भी कार्रवाई की जाए। हालांकि, पुलिस कमिश्नर असीम अरुण मंत्री का बचाव करने में जुटे हुए हैं। दैनिक भास्कर से बातचीत में कमिश्नर ने कहा कि पानी पीने के दौरान मंत्रीजी ने कुछ पल के लिए मास्क हटाया था। उन्होंने नियम का कोई उल्लंघन नहीं किया है, इसलिए कार्रवाई उचित नहीं है।

मास्क न पहनने पर आम नागरिकों से 81 करोड़ रुपए वसूल चुकी है
मास्क न पहनने वालों के खिलाफ पूरे राज्य में पुलिस अभियान चला रही है। अब तक 50 लाख 73 हजार 327 लोगों के चालान काटे गए हैं। इन लोगों से 81 करोड़ 53 लाख 39 हजार 399 रुपए वसूले जा चुके हैं। जबकि लॉकडाउन उल्लंघन के मामलों में पुलिस अब तक 175 करोड़ 17 लाख 94 हजार 865 रुपए जुर्माना वसूल चुकी है। लेकिन जब कैबिनेट मंत्री की बात आई तो सामने होते हुए भी पुलिस अफसर मूक बन गए। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या ये नियम केवल आम लोगों के लिए है? मंत्री कानून से भी ऊपर होते हैं?

अब तक प्रदेश के 6 विधायक जान गंवा चुके, इनमें 2 मंत्री भी
कोरोना के चलते प्रदेश में अब तक 6 विधायकों की मौत हो चुकी है। इनमें 2 मंत्री भी शामिल हैं। कुछ दिनों पहले ही बरेली से विधायक केसर सिंह की मौत हुई थी। इसके पहले औरैया सदर से BJP विधायक रमेश दिवाकर, लखनऊ पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से BJP विधायक सुरेश श्रीवास्तव, योगी कैबिनेट में कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण, क्रिकेटर से नेता बने नागरिक सुरक्षा मंत्री चेतन चौहान जैसे बड़े नाम भी जान गंवा चुके हैं।

प्रदेश में अब तक 16.83 लाख केस
यूपी में अब तक 16 लाख 83 हजार से ज्यादा लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 16 लाख 5 हजार लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 58 हजार मरीजों का अभी इलाज चल रहा है। 19 हजार 899 मरीजों की संक्रमण से जान जा चुकी है।

खबरें और भी हैं...