कासगंज में 2 महीनों से कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन:महाविद्यालय में धरने पर बैठे चतुर्थ क्षेणी कर्मचारी, वेतन दिलाने की कर रहे मांग

कासगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कासगंज के शारदा देवी जौहरी महाविद्यालय में पिछले 2 महीनों से कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है। जिसके बाद अपनी जाने मांग को लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी धरने पर बैठ गए हैं। कॉलेज प्रशासन और प्राचार्य के खिलाफ चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का आरोप था कि जब भी वह इस संबंध में बात करने जाते हैं तो प्राचार्य रानू शर्मा उनसे जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देते हैं। सभी चतुर्थ क्षेणी कर्मियों न्यूनतम, मजदूरी अधिनियम के आधार पर मानदेय दिए जाने की मांग ओर प्राचार्य के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठे हैं।

पूरा मामला कासगंज शहर के शारदा देवी जौहरी महाविद्यालय का है। जहां काम करने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी कर्मवीर सिंह का कहना है कि उन्हें पिछले 2 महीनों से वेतन नहीं मिला है। इस संबंध में उन्होंने कई बार कॉलेज प्रबंधक और प्राचार्य से शिकायत की। लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं हो सका। वह जब भी प्राचार्य रानू शर्मा के पास कोई शिकायत लेकर गए तो प्राचार्य द्वारा उन्हें जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर अपमानित किया गया। मामले को तूल देने पर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी भी दी गई।

धरने पर बैठे कर्मचारी वेतन की कर रहे मांग।
धरने पर बैठे कर्मचारी वेतन की कर रहे मांग।

कर्मचारियों के पैसे मांगने पर मिलती है धमकी
डिग्री कॉलेज में तैनात क्लर्क अशोक बाबू का कहना था कि कॉलेज प्रशासन ने उन्हें पिछले 2 महीनों से वेतन नहीं दिया है। ना ही न्यूनतम मजदूरी अधिनियम के तहत उनका वेतनमान लागू किया गया है। जब इस संबंध में अशोक बाबू ने कॉलेज प्रबंधक से शिकायत की तो कॉलेज प्रबंधक ने प्राचार्य से मिलने को कहा। जब अशोक बाबू ने कॉलेज के प्राचार्य रानू शर्मा से वेतन को लेकर मुलाकात की तो प्राचार्य के द्वारा उन्हें भी जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर अपमानित किया।

मुकदमा कराने की मिलती है धमकी
मामले को तूल देने पर फर्जी मुकदमों में फंसाने की धमकी दी गई। अपनी समस्याओं को लेकर चतुर्थ क्षेणी कर्मी महाविद्यालय में धरने पर बैठ गए हैं। सभी कर्मियों का कहना कि जब तक उनकी मांगें पूरी नही होती वे अनिश्चित कालीन हड़ताल पर रहेंगे।

खबरें और भी हैं...