मत्स्य संपदा योजना से मछुआरों को मिलेगा लाभ:कासगंज में कैबिनेट मंत्री ने रिवर रैचिंग कार्यक्रम में लिया भाग, गंगा में छोड़े मत्स्य बीज

कासगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैबिनेट मंत्री संजय कुमार निषाद ने रिवर रैंचिंग कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। - Dainik Bhaskar
कैबिनेट मंत्री संजय कुमार निषाद ने रिवर रैंचिंग कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

यूपी सरकार में मत्स्य विभाग के कैबिनेट मंत्री डॉ. संजय कुमार निषाद की अध्यक्षता में कासगंज के विकास खंड सोरों के कछला घाट पर रिवर रैचिंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान कैबिनेट मंत्री ने कछला गंगा नदी की बहती जल धारा में स्टीमर से लगभग एक लाख भारतीय मेजर कार्प मत्स्य बीज अंगुलिका-मछली के बच्चे छोड़े।

अंचल फिश हैचरी, फरोरा मीरगंज बरेली से मंगाये गये इन मत्स्य बीजों का संचय बहती जलधारा में आमतौर से 5 किलोमीटर के दायरे में हो जाता है। कैबिनेट मंत्री डॉ. संजय निषाद ने रिवर रैचिंग कार्यक्रम में मत्स्य पालकों को संबोधित करते हुये कहा कि गंगा नदी की बहती जलधारा में छोड़े गए मछली के बच्चों के बड़े हो जाने पर मत्स्य पालकों को इनसे काफी लाभ मिलेगा।

कैबिनेट मंत्री संजय कुमार निषाद ने रिवर रैंचिंग कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।
कैबिनेट मंत्री संजय कुमार निषाद ने रिवर रैंचिंग कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

घटती मत्स्य संपदा पर जताई चिंता
प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना की विस्तार से जानकारी देते हुये मंत्री संजय निषाद ने कहा कि मत्स्य पालक एवं मछुआ समुदाय के लोग योजना की पूरी जानकारी प्राप्त कर लाभ उठाए। मत्स्य पालन करके अपनी आय बढ़ाएं। कैबिनेट मंत्री ने नदियों में प्रदूषण के कारण घटती मत्स्य संपदा पर चिंता व्यक्त की।

जल प्रदूषण होगा कम
उन्होंने कहा कि यथासंभव जल प्रदूषण को कम कर नदियों में मत्स्य सम्पदा को बनाए रखा जाए और यह मत्स्य पालकों के रोजगार का मुख्य साधन है। कैबिनेट मंत्री के इस कार्यक्रम में अमांपुर के भाजपा विधायक हरिओम वर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि बौबी कश्यप, मुख्य विकास अधिकारी सचिन, डीपीआरओ देवेन्द्र सिंह और उपनिदेशक मत्स्य अलीगढ़ मण्डल, अपर सांख्यिकी अधिकारी आगरा बृजेश कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...