कौशांबी में बिना एएमएस के क्रॉप कटिंग, 3 हार्वेस्टर पकड़े:हार्वेस्टर से फसल काटने पर किसान जलाने लगते है पराली, प्रदूषण को रोकने के लिए हुई कार्रवाई

कौशांबी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आशंका है कि बिना एएमएस लगाए फसल कटाई से पराली जलाए जाने संभावना बढ़ जाती है।  - Dainik Bhaskar
आशंका है कि बिना एएमएस लगाए फसल कटाई से पराली जलाए जाने संभावना बढ़ जाती है। 

कौशांबी की पश्चिम शरीरा पुलिस ने धान की फसल काट रही 3 हार्वेस्टर मशीन को पकड़ कर कब्जे मे लिया है। पुलिस ने मशीनों को बिना एएमएस मशीन लगाए जाने पर धरपकड़ की है। उसे आशंका है कि बिना एएमएस लगाए फसल कटाई से पराली जलाए जाने संभावना बढ़ जाती है।

इंस्पेक्टर पश्चिम शरीरा सर्वेश सिंह ने बताया कि पुलिस ने स्थानीय लोगों की शिकायत पर धान की फसल बिना एएमएस लगाए कटाई कर रही 3 हार्वेस्टर मशीन को जब्त किया है। हार्वेस्टर चालक फसल काटकर चले जाने पर किसान बचे अपशिष्ट पराली को आग के हवाले कर देते हैं।

एएमएस लगने से नहीं बचती पराली
हार्वेस्टर में एएमएस लगाए जाने से मशीन जमीन की सतह से धान की फसल की कटाई करती है, जिससे खेत मे अपशिष्ट पराली बचने की संभावना नहीं रहती। नतीजतन पर्यावरण मे प्रदूषण का खतरा कम हो जाता है। एएमएस मशीन के लगते ही मशीन से फसल की कटाई का खर्च 4 गुना बढ़ जाता है। जानकार बताते हैं कि हार्वेस्टर मशीन में एएमएस मशीन लगते ही मशीन जमीन से बेहद नजदीक से कटाई करती है। जिसके कारण मशीन ज्यादा डीजल एवं समय लेती है। इस वजह से मशीन संचालक एवं किसान बिना एएमएस मशीन के ही धान कि फसल कटवाने का प्रयास करते हैं।

खबरें और भी हैं...