कौशांबी में सरकारी अस्पताल की खस्ताहाल व्यवस्था:न समय से खुलती है ओपीडी न पहुंचते हैं डॉक्टर, कई बार वेतन रुकने पर भी नहीं हो रहा सुधार

कौशांबी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कौशांबी में सरकारी अस्पताल सुबह 10 बजे के बाद भी कमरों में नहीं होते डॉक्टर। - Dainik Bhaskar
कौशांबी में सरकारी अस्पताल सुबह 10 बजे के बाद भी कमरों में नहीं होते डॉक्टर।

कौशांबी के संयुक्त जिला अस्पताल की व्यवस्था पूरी तरह से बेलगाम हो चुकी है। अस्पताल में साढ़े 10 बजे तक ओपीडी शुरू नही हो पाती। डॉक्टर एवं अन्य स्टाफ अपने चेम्बर में समय से नहीं बैठते। दूर दराज से आने वाले मरीज सुबह से चेम्बर के बाहर इंतजार करते हैं। शिकायतों के बाद प्रशासनिक अफसर जांच के लिए पहुंचते हैं। लेकिन उनकी लचर कार्यवाही के चलते लापरवाही का सिलसिला बदस्तूर जारी है।

सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक खुलती है ओपीडी

जिले के जिला अस्पताल में कोविड हेल्प डेस्क सेंटर पर सुबह 10 बजे तक कोई कर्मचारी मौजूद नहीं मिलता। जबकि जांच कराने वाले लोग स्टाफ के आने का इंतजार करते रहते हैं। अस्पताल की ओपीडी के खुलने का समय सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक का है। लेकिन ओपीडी सुबह साढ़े 10 बजे तक भी नहीं खुलती है।

कार्यवाही के बाद भी नहीं सुधरती व्यवस्था

जिला अस्पताल की बेपटरी व्यवस्था सुधार के लिए प्रशासनिक अफसरों ने कई बार औचक निरीक्षण कर लापरवाह डॉक्टर व कर्मचारियों के वेतन कटौती के आदेश दिए। लेकिन डॉक्टर और कर्मचारियों की आदत में बदलाव नहीं आ सका। पूर्व डीएम अमित कुमार ने एक साथ आधा दर्जन डॉक्टरों के वेतन काट कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए थे। लेकिन उनके तबादले के बाद अस्पताल व्यवस्था फिर से चरमरा गई।

सीएमएस बोले- ठंड के चलते कुछ कर्मचारी देर से आते हैं

सीएमएस डॉ दीपक सेठ ने बताया कि ठंड का मौसम होने चलते कुछ कर्मचारी देर से आ रहे हैं। निरीक्षण कर व्यवस्था में सुधार लाया जाएगा। साफ-सफाई देर से होने के चलते डॉक्टर चेम्बर में नही पहुंचते हैं।

खबरें और भी हैं...