घायल को चारपाई पर लेकर इंसाफ मांगने पहुंचे परिजन:कौशांबी में एसपी से मिलने से पहले ही पुलिस ने जबरदस्ती अस्पताल में कराया भर्ती

कौशांबी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज न होने पर परिजन घायल को चारपाई पर लादकर एसपी ऑफिस पहुंचे। - Dainik Bhaskar
कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज न होने पर परिजन घायल को चारपाई पर लादकर एसपी ऑफिस पहुंचे।

कौशांबी में दबंगो की पिटाई से घायल युवक के मामले में थाना पुलिस ने 4 दिन बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की। इससे नाराज परिजन रविवार को घायल को चारपाई पर लेकर एसपी दफ्तर पहुंचे। एसपी दफ्तर पर भीड़ देखकर पुलिस कर्मियों ने जबरन घायल को जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया। पीड़ित का कहना है कि थाना पुलिस मामले में दबंग आरोपियों को बचा रही है।

मोहब्बतपुर पइंसा कोतवाली के तुलसीपुर गांव में मैहर की पत्नी सुरसती और बेटा लल्लू लाल रहते हैं। मैहर प्राइवेट नौकरी के चलते घर से बाहर रहता है। सुरसती ने बताया कि 4 दिन पहले वह अपने बेटे के साथ घर के दरवाजे पर बातचीत कर रही थी। बेटे के आवाज तेज थी, जिस पर गांव के रास्ते से गुजर रहे पड़ोसी दबंग शशि प्रकाश और उनके करीबी लोगों ने बेटे को धीमी आवाज में बात करने की बात कह कर विवाद शुरू कर दिया।

कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज न होने पर परिजन घायल को ट्रैक्टर ट्राली पर लादकर एसपी ऑफिस पहुंचे।
कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज न होने पर परिजन घायल को ट्रैक्टर ट्राली पर लादकर एसपी ऑफिस पहुंचे।

दबंगों ने घर में घुसकर की मारपीट
बेटे लल्लू को दबंगो ने घर में घुसकर पीटा और उसके पैर तोड़ दिए। पीड़ित महिला बेटे का इलाज करा के कार्रवाई के लिए कोतवाली पुलिस के पास पहुंची। आरोप है कि कोतवाली पुलिस ने उनकी शिकायत पर कार्रवाई नहीं की। इस बात से आहत पीड़ित परिवार ग्रामीणों के साथ घायल को चारपाई पर लादकर एसपी दफ्तर मंझनपुर इन्साफ मांगने पहुंचा।

कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज न होने पर परिजन घायल को चारपाई पर लादकर एसपी ऑफिस पहुंचे।
कौशांबी में रिपोर्ट दर्ज न होने पर परिजन घायल को चारपाई पर लादकर एसपी ऑफिस पहुंचे।

एसपी दफ्तर के बाहर भीड़ देखकर बुलाई पुलिस
एसपी दफ्तर के बाहर भीड़ देखकर पुलिस कर्मियों ने मंझनपुर कोतवाली पुलिस को बुला लिया। पीड़ित परिवार पुलिस अधिकारियों से मिलकर अपनी फरियाद सुनाने की बात कर रहा था। लेकिन पुलिस ने एसपी दफ्तर के बाहर से लोगों को घेर कर घायल को अपने कब्जे में कर उसे जिला अस्पताल लाकर भर्ती करा दिया।

सोमवार को आने की बात कहकर लौटाया
पीड़ित परिवार पुलिस की सख्ती के आगे अधिकारियों से बिना मिले ही वापस लौट गया। इंस्पेक्टर मंझनपुर वीके सिंह ने बताया कि छुट्टी का दिन होने के चलते शिकायत करने आये लोगों को समझाकर वापस भेजा गया है। उन्हें सोमवार को कार्य दिवस में आकर अधिकारियों के सामने अपनी बात रखने की बात कही है। घायल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

खबरें और भी हैं...