कौशांबी ने बीमा एजेंट्स ने किया हड़ताल:LIC दफ्तर के बाहर धरने पर बैठे, बोनस रेट बढ़ाने-GST हटाने की मांग की

कौशांबी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कौशांबी में भारतीय जीवन बीमा निगम लिमिटेड के बीमा एजेंट्स ने शुक्रवार को एक दिवसीय हड़ताल किया। एजेंट्स ने भरवारी व मंझनपुर के बाहर प्रदर्शन कर सरकार विरोधी नारे लगाए। आरोप है कि सरकार पॉलिसी धारकों एवं एजेंटों की समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। संगठन के लोगों ने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप भी लगाया।

मंझनपुर व भरवारी के एलआईसी दफ्तर पर पूरे दिन कोई काम नहीं हो सका। बीमा एजेंट्स सरकार की नीतियों से नाराज होकर पूरे दिन धरना प्रदर्शन करने को मजबूर रहे। एजेंट्स का आरोप है कि सरकार ने बीमा पॉलिसी से जीएसटी हटाने, बोनस रेट बढ़ाने, लेट पेमेंट पर जीएसटी हटाने, बंद पड़ी पॉलिसी पर केवाईसी की दरों में वृद्धि कर दी है। जिससे बीमा धारक को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही बीमा एजेंट्स की जीविका का संकट खड़ा हो रहा है।

शाखा प्रबंधक को एजेंट्स ने दिया ज्ञापन
लाइफ इंश्योरेंस एजेंट फेडरेशन के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे लोगों ने 8 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन शाखा प्रबंधक को सौंपा। ज्ञापन देकर बीमा एजेंट्स व पॉलिसी धारकों की समस्या से अवगत कराया। फेडरेशन के लोगों ने बताया, शुक्रवार को किसी तरह का कार्य नहीं किया गया। शाखा दफ्तर के बाहर एजेंट्स धरने पर बैठे रहे। प्रदर्शनकारियो में किशन लाल, अयोध्या प्रसाद, कौशल सिंह, उमेश कुमार, कृष्ण कुमार त्रिपाठी, ओपी सिंह, राजीव केसरवानी, राजा ध्यान सिंह आदि एलआईसी एजेंट्स मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...