कौशांबी में 33 केवीए तार खोल ले गए बदमाश:45 बिजली के पोल से तार गायब, 2014 में सप्लाई देने को तैयार हुई थी 25 किलोमीटर लाइन

कौशांबी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कौशांबी की सिराथू तहसील में बदमाश बिजली चोरी नहीं करते बल्कि बिजली के तार ही चोरी कर ले गए हैं। जिन बिजली के पोल से तार चोरी हुई है। वह हाई टेंशन लाइन (33 kva) तार है। जिनके नजदीक जाते ही इंसान जल कर मर सकता है। तार चोरी होने का मामला सामने आने के बाद बिजली विभाग में हड़कंप है। बिजली अफसर प्रकरण में जांच कर कार्रवाई की बात कही है।

मामला सिराथू के 220 केवीए ट्रांसमिशन केंद्र से कोखराज राला 33 केवीए उपकेंद्र को बिजली की सप्लाई देने के लिए साल 2014 में 25 किलोमीटर दूरी की एक ट्रांसमिशन हाईटेंशन लाइन खींची गई। जिसके जरिए ककोढ़ा उपकेंद्र से करीब 1000 से अधिक गांव को बिजली की सप्लाई दिए जाने की योजना थी। समग्र ग्राम विद्युतीकरण योजना के तहत ठेकेदार से हाईटेंशन लाइन तार खींचने का काम पूरा कर विभाग को हैण्ड ओवर कर दिया।

खंभों से तार निकाल ले गए चोर।
खंभों से तार निकाल ले गए चोर।

राला पावर हॉउस से 40 गांवों को दी जाती है बिजली
बिजली विभाग के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक समग्र ग्राम विद्युत योजना से खींची गई लाइन पर बिजली की सप्लाई होने से पहले ही लाइन को कंडम बता दिया गया। साल 2015 में पंडित दीनदयाल विद्युतीकरण योजना के तहत राला पवार हॉउस के लिए एक नई बिजली की लाइन तत्कालीन ठेकेदार कंपनी एल एन्ड टी से खींच कर पावर हॉउस को सप्लाई दे दी। राला पावर हॉउस से करीब 40 से अधिक गांव को बिजली की सप्लाई दी जाती है।

2 किमी लाइन के बीच गायब हो गए तार
स्थानीय ग्रामीण हरिश्चंद्र ने बताया, 8 साल पहले सिराथू सायरा चतुरीपुर निहालपुर गुलामीपुर होते हुए राला पावर हॉउस को 33 केवीए की सप्लाई गई थी। जिसमे चतुरीपुर से निहालपुर के बीच करीब 2 किलोमीटर (45 खम्बा) के बीच पोल से बिजली की तार बदमाशों ने धीरे धीरे कर गायब कर दी। जिसकी भनक बिजली विभाग के अधिकारियो को नहीं लगी। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी अधिकारियों को दी थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

एक्सईएन मंझनपुर अंकित कुमार ने बताया, 33 केवीए लाइन से बिजली की तार चोरी होने की जानकारी उन्हें नहीं है। आप के द्वारा प्रकरण संज्ञान में आया है। जानकारी किए जाने पर मालूम हुआ है कि जिस लाइन से तार चोरी हुई है, वह सालो से बंद पड़ी थी। सम्बंधित जेई को प्रकारन की जांच कर सम्पूर्ण रिपोर्ट तलब की गई है।