सुकरौली के CHC प्रभारी लापता:तीन दिन पहले गोरखपुर जा रहे थे, रास्ते से गायब हुए; साथी बोले- कई दिनों से थे तनाव में

हाटा (कुशीनगर)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुकरौली के सीएचसी प्रभारी डॉ. स्वप्निल श्रीवास्तव। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
सुकरौली के सीएचसी प्रभारी डॉ. स्वप्निल श्रीवास्तव। (फाइल फोटो)

हाटा के सुकरौली (देवतहां) के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. स्वप्निल श्रीवास्तव लापता हो गए हैं। रविवार की शाम को वह कुशीनगर के सुकरौली से गोरखपुर महानगर स्थित अपने आवास पर जाने के लिए निकले थे, लेकिन घर नहीं पहुंचे।

काफी रात तक जब वह घर नहीं पहुंचे तो परिवार के लोग परेशान हो गए। घबराए परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। परिवार के लोग उनकी खोजबीन में लग गए। पुलिस ने देर रात उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की। पुलिस का कहना है कि तलाश की जा रही है।

दो दिन पहले घर के लिए निकले, लेकिन नहीं पहुंचे
बता दें कि कुशीनगर के सुकरौली सीएचसी प्रभारी डॉ. स्वप्निल श्रीवास्तव का घर गोरखपुर में है। वह रोजाना गोरखपुर आवास से कार से आवागमन करते हैं। रविवार की शाम वह अपने चालक के साथ सुकरौली से गोरखपुर आवास के लिए निकले थे, लेकिन देर रात तक घर नहीं पहुंचे। परिवार के लोगों ने जब मोबाइल फोन पर उनसे संपर्क करने की कोशिश की तो वह बंद मिला। इससे परिवार के लोग घबराकर परेशान हो गए। परिवार के लोगों ने जब चालक से संपर्क किया तो उसने बताया कि नंदानगर से उसे गाड़ी से उतारकर डॉक्टर साहब अकेले ही चले गए।

रविवार शाम से ही प्रभारी डॉ. स्वप्निल लापता हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है।
रविवार शाम से ही प्रभारी डॉ. स्वप्निल लापता हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है।

गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस जांच में जुटी
परिजनों ने बताया कि तीसरे दिन मंगलवार की शाम तक उनका कोई सुराग नहीं मिल सका। इसके बाद गोरखपुर के कैंट थाने की पुलिस को सूचना दी गई। गोरखपुर महानगर के कैंट थाना प्रभारी शशिभूषण राय ने बताया कि डॉक्टर की गुमशुदगी दर्ज कर ली गई है। सर्विलांस की मदद से लोकेशन ट्रेस कर उनकी तलाश की जा रही है। उनका लोकेशन देवरिया में मिलना बताया जा रहा है, जबकि पुलिस जांच में लगी हुई है।

मंगलवार देर शाम परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।
मंगलवार देर शाम परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

साथी बोले- कई दिनों से डॉक्टर तनाव में थे
सुकरौली सीएचसी और पीएचसी पर तैनात अन्य डॉक्टर इसे पारिवारिक विवाद बता रहे हैं। साथी डॉक्टरों ने यह भी बताया कि स्वप्निल श्रीवास्तव की मोबाइल पर बार-बार कोई कॉल आ रहा था। बात करने के लिए डॉक्टर को अकेले में जाते थे। डॉ. स्वप्निल श्रीवास्तव इधर कुछ दिनों से डिप्रेशन में भी चल रहे थे। हालांकि परिजनों ने इस बारे में कुछ नहीं कहा है।

खबरें और भी हैं...