कसया में किया प्रदर्शन:एसडीएम से लगाई पेंशन बहाल करने की गुहार, 37 को नहीं मिल रहा वृद्धा पेंशन

कसया, कुशीनगर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विभागीय लापरवाही और राजनैतिक दबाव की चलते क्षेत्र के नकहनी गांव की 37 बुजुर्ग पुरुष और महिलाओं को बीते करीब एक वर्ष से वृद्धा पेशन नहीं मिल रहा है, इससे परेशान गांव की बुजुर्ग महिलाओं ने शनिवार को एसडीएम से मिलकर शीघ्र कार्रवाई की गुहार लगाई।

कसया तहसील सभागार में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में पहुंची गांव बुजुर्ग-पुरुष और महिलाओं ने एसडीएम वरुण कुमार पांडेय से कहा कि विभागीय लापरवाही और राजनैतिक दबाव के चलते बीते वर्ष मार्च से ही सरकार की तरफ से मिलने वाला वृद्धा पेंशन उनके खाते में नहीं भेजा जा रहा है। इस‌के बारे में पता करने पर पता विभाग की तरफ से पता चला कि विभागीय कंप्यूटर से उनका नाम ही गायब है। जबकि उनका पेंशन इसके पहले कई वर्षों तक मिला है। इन महिलाओं ने इस मामले में शीघ्र कार्रवाई कराने की मांग की।

लगमानी, फूलादेवी, सुभावती, रामवृक्ष दूबे, सावित्री देवी, लालती देवी, छट्ठू, हीरालाल, लक्ष्मण, रहीम, बृजमानी, द्रौपदी, तेतरी, मालती देवी, शकुंतला, कौशल्या, दुर्गावती देवी, फूलमति, घनश्याम,बेइली, देवंती, सरोज, लालपरी, अजोरा, जानकी, बाबूराम, दशरथ, पतरु,बदरी, किशोर, खातना, पानमती, रामसूरत, अशोक, विद्यावती और ​​​​ विंद्रावती देवी समेत 37 बुजुर्ग लोगों को नहीं मिला रहा है वृद्धा पेंशन।

खबरें और भी हैं...