बारिश में डूबा कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट:21 सितंबर तक फ्लाइट रद्द, 3 दिन की बारिश ने खोली व्यवस्थाओं की पोल

कुशीनगर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
3 दिन की बारिश में कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे डूब गया। - Dainik Bhaskar
3 दिन की बारिश में कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे डूब गया।

जिले में हो रही बारिश के चलते कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे भी डूब गया है। परिसर भी इस बारिश से बुरी तरह प्रभावित हो गया है। एयरपोर्ट परिसर में कुछ जगहों को छोड़कर हर तरफ पानी भर गया है। इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी, कार्यदाई संस्था लोक निर्माण विभाग को जिम्मेदार ठहरा रही है।

कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से 21 सितंबर तक सभी जहाजों की आवाजाही को निरस्त कर दिया गया है। भारत सरकार पूर्वांचल के कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को सरकार द्वारा लोगों को दी गई सबसे बड़ी सौगात बता रही थी। महज 3 दिनों की बारिश ने सरकार के दावे और अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के निर्माण में जिम्मेदारों की लापरवाही को उजागर कर दिया।

3 दिन की बारिश में कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे डूब गया।
3 दिन की बारिश में कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे डूब गया।

टर्मिनल बिल्डिंग के बाहर भरा पानी
कुशीनगर से विभिन्न स्थानों पर लोगों के जहाज द्वारा आने-जाने के सपने पर भी कुछ दिनों के लिए बरसात में पानी फेर दिया। जलजमाव के चलते टर्मिनल बिल्डिंग के बाहर सड़क पर, पार्किंग, फ्यूल स्टेशन, एप्रन से एटीसी जाने वाले मार्ग सहित रनवे के चारों तरफ पानी भरा है। यहां तक कि रनवे के पश्चिमी हिस्से पर पानी चढ़ गया है।

3 दिन की बारिश में कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे डूब गया।
3 दिन की बारिश में कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे डूब गया।

बीते साल प्रधानमंत्री ने किया था लोकार्पण
इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण बीते साल 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। उस समय भी जलनिकासी की समुचित व्यवस्था न होने के चलते और मूसलाधार बरसात के कारण पूरे एयरपोर्ट परिसर में पानी भर गया था। इसकी निकासी के लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। एयरपोर्ट की चहारदीवारी तक प्रदेश सरकार ने फोरलेन सड़क और दोनों तरफ आरसीसी नाले का निर्माण करा दिया है।

निर्माण के लिए एकमुश्त सौंपी गई रकम
चहारदीवारी के अंदर से लेकर टर्मिनल बिल्डिंग तक 2.35 किमी. फोरलेन सड़क और दोनों तरफ नाले का निर्माण एयरपोर्ट अथॉरिटी के जिम्मे था। अथॉरिटी ने लोकनिर्माण विभाग से आगणन तैयार कराया था। आगणन के बाद तत्कालीन एयरपोर्ट डायरेक्टर एके द्विवेदी ने डीएम एस राजलिंगम के समक्ष तत्कालीन लोक निर्माण विभाग के अधिशाषी अभियंता हेमराज सिंह को एकमुश्त 33 करोड़ रुपये का डिमांड ड्राफ्ट सौंपा था।

काम की धीमी गति बनी वजह
विभाग ने टेंडर प्रक्रिया पूरी करते हुए निर्माण कार्य शुरू करा दिया, लेकिन एकमुश्त रकम देने के बावजूद काम में तेजी नहीं आई। काम में तेजी लाने को लेकर एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों ने कई बार लोकनिर्माण विभाग के संबंधित अधिकारियों से वार्ता की, लेकिन तेजी नहीं आई। हालांकि इस साल तीन माह देर से बरसात शुरू हुई है, ऐसे में निर्माण करा रही संस्था को काफी मोहलत मिली थी।

बीते 5 दिन से स्थगित है उड़ान
एयरपोर्ट से उड़ान संचालित करा रही उड़ान कंपनी स्पाइस जेट ने बीते पांच दिन से स्थगित कर रखा है। शनिवार को फ्लाइट आनी थी लेकिन उसके पहले दोबारा 21 सितंबर तक उड़ान को स्थगित करने का ईमेल भेज दिया है। यानी दस दिन उड़ान स्थगित रहेगी। पानी लगने से एयरपोर्ट अथॉरिटी और कार्यदायी संस्था पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों की बेचैनी बढ गई है।

जलनिकासी कराने में जुटे अधिकारी
जल निकासी को लेकर लोकनिर्माण विभाग के अधिकारी जगह-जगह पोकलेन मशीन की मदद से सड़क तुड़वाकर जल निकासी कराने में जुटे हैं।। कुशीनगर एयरपोर्ट के प्रभारी निदेशक जी.प्रदीप ने बताया कि अथॉरिटी ने समय से एकमुश्त रकम लोकनिर्माण विभाग को दे दी था। विभाग की लापरवाही से समय से काम पूरा नहीं हो सका। एयरपोर्ट परिसर की कुछ जगहों पर बारिश का पानी लगा है। उड़ान को लेकर फिलहाल कोई बाधा नहीं है।

खबरें और भी हैं...