कुशीनगर चीनी मिल गेट पर किसानो की पंचायत:पूर्वमंत्री बोले- गन्ना मूल्य नहीं बढ़ा तो खाद महंगी करना गलत, मिल ने वापस लिया दाम

कुशीनगर2 महीने पहले

कुशीनगर के रामकोला की त्रिवेणी चीनी मिल की मनमानी से नाराज किसानों ने चीनी मिल के गेट पर पंचायत लगाई। मिल द्वारा मिलने वाले फ्रेशमट का दाम बढ़ाने पर किसान नाराज थे। पंचायत में पहुंचे पूर्व मंत्री और सपा नेता राधेश्याम सिंह ने हिस्सा लेकर किसानों के मुद्दे उठाए। जिसके बाद चीनी मिल प्रबंधन ने बढ़े हुए दामों को वापस ले लिया।

त्रिवेणी चीनी मिल के गेट पर नाराज किसानों ने पंचायत रखी। चीनी मिल गेट पर पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह भी पहुंचे। जहां किसानों ने मिल की फ्रेशमट खाद के दाम में चीनी मिल द्वारा किये गए बढ़ोतरी से नाराज थे। सैकड़ों की संख्या में पंचायत में किसान शामिल हुए और मिल प्रबंधन से वापसी की मांग की। किसानों ने कहा कि पिछले साल से 400 रुपए प्रति ट्राली फ्रेशमर्ट खाद को मनमाने रूप से बढ़ा दिया है। जो हम किसानों के लिए काफी महंगा पड़ रहा उसको वापस किया जाए।

कुशीनगर में चीनी मिल गेट पर किसानों की पंचायत।
कुशीनगर में चीनी मिल गेट पर किसानों की पंचायत।

मनमाने तरीके से न बढ़ाएं फ्रेशमट का मूल्य
सपा नेता और पूर्व राज्य मंत्री राधेश्याम सिंह ने मिल पंचायत में पहुंचे मिल प्रबंधन और कप्तानगंज तहसीलदार के समक्ष किसानों की बात रखी। उन्होंने कहा कि जब सरकार ने गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ाया तो ऐसे में मिल के प्रोडक्ट और किसानों के लिए लाभकारी खाद को बढ़ाना बिल्कुल अनुचित हैं। इसको तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाना चाहिए। अगर सरकार गन्ने का मूल्य बढ़ाती है तो उसी के सापेक्ष मिल फ्रेशमट का मूल्य निर्धारण करें न कि मनमाने तरीके से।

फ्रेशमट खाद के मूल्य वापस लेने की घोषणा
किसानों की पंचायत में पहुंचे तहसीलदार कप्तानगंज ने किसानों से बात कर काफी समझाया और चीनी मिल प्रबंधक ने बढ़े हुए फ्रेशमट खाद के मूल्य को वापस लेने की घोषणा की। जिसके जिसके बाद किसानों ने पंचायत को खत्म किया।

खबरें और भी हैं...