​​​​​​​टीचर ने कहा- योर वर्क इज नॉट गुड:इतनी सी बात पर स्कूल के टॉप फ्लोर से कूद गई थी छात्रा, ICU में है भर्ती

कुशीनगर2 महीने पहले

कुशीनगर में सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल के टॉप फ्लोर से कूदकर छात्रा ने सुसाइड की कोशिश की थी। मामले में नई जानकारी सामने आई है। छात्रा की मां ने स्कूल प्रबंधन और क्लास टीचर पर बेटी को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

मां ने पुलिस को तहरीर देकर कहा है कि बेटी के पास चिट मिलने पर उसे प्रताड़ित किया गया। उसे सभी के सामने बेइज्जत किया गया। जो बात वो सह नहीं पाई और पेपर खत्म होते ही स्कूल के टॉप फ्लोर पर जाकर छलांग लगा दी। हालांकि प्रिंसिपल का कहना है कि छात्रा से सिर्फ इतना कहा था कि योर वर्क इज नॉट गुड। इसके बाद उसे क्लास में भेज दिया गया था।

बीते बुधवार को पड़रौना के सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 11वीं की छात्रा ने स्कूल के टॉप फ्लोर से छलांग लगा दी थी। स्कूल प्रबंधन आनन-फानन में छात्रा को एक निजी अस्पताल लेकर पहुंचा था, वहां से उसे ले जाकर गोरखपुर के निजी हॉस्पिटल भर्ती कराया गया था। तीन दिन बाद भी छात्रा को होश नहीं आया है, डॉक्टरों के मुताबिक उसके सिर, फेफड़े और पेट में गम्भीर चोट आई है।

स्कूल के प्रिंसिपल ने पुलिस को स्पॉट पर ले जाकर जानकारी दी।
स्कूल के प्रिंसिपल ने पुलिस को स्पॉट पर ले जाकर जानकारी दी।

छात्रा की मां बोली- मेरी बेटी बेइज्जती सह नहीं पाई

कोतवाली पडरौना में छात्रा की मां कालिंदी देवी ने बृहस्पतिवार की देर शाम तहरीर दी है। मां ने बताया, "मेरी बेटी सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल से साइंस साइड से 11वीं कर रही है। बुधवार सुबह 8 बजे स्कूल में परीक्षा देने गयी थी। 12 बजे स्कूल से सूचना मिली कि बेटी छत से गिर गई है। ये सुनते ही मेरी पैरों के नीचे से मानो जमीन खिसक गई हो।"

'चिट मिली भी तो क्या इतना प्रताड़ित किया जाता है'

मां के मुताबिक, "मैं भागकर बेटी के स्कूल पहुंची तो स्कूल के लोग उसे लेकर अस्पताल जा चुके थे। तभी बेटी के साथ पढ़ने वाले बच्चों ने बताया कि परीक्षा के दौरान उसके पास क्लास टीचर ने दूसरे टीचरों के सामने अंकिता (बदला हुआ नाम) को अपमानित किया। उसके बाद उसे ऑफिस बुलाकर प्रिंसिपल और प्रबन्धक ने भी शिक्षकों के सामने बेइज्जत किया। बताया गया कि बेटी के पास चिट मिली थी। इसलिये उसे इतना प्रताड़ित किया कि उसने इतना बड़ा आत्मघाती कदम उठा लिया।"

छात्रा अभी ICU में भर्ती है।
छात्रा अभी ICU में भर्ती है।

प्रिंपिसल बोले- 'बेटा योर वर्क इज नॉट गुड' कहा था

11वीं की छात्रा को प्रताड़ित करने के आरोपों को नकारते हुए सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा, "छात्रा को ऑफिस में प्रताड़ित करने या क्लास रूम में डांटने का आरोप गलत है। परीक्षा हॉल में छात्रा रुमाल के अंदर चिट लेकर आई थी, जिसे क्लास इंचार्ज ने बिना किसी को भनक लगे चिट निकालकर बाहर कर दिया था। संभवतः बस इतना कहा की "बेटा योर वर्क इज नॉट गुड"।

प्रिंसिपल ने छात्रा की सुसाइड की कोशिश के मामले की जानकारी दी।
प्रिंसिपल ने छात्रा की सुसाइड की कोशिश के मामले की जानकारी दी।

हमने तो छात्रा से बात भी नहीं की

प्रिंसिपल कुंदन सहाय के मुताबिक, "सीसीटीवी कैमरे में भी देखा जा सकता है कि उसे किसी ने नहीं डाटा है। नकल मिलने पर अगर किसी बच्चे का पांच नम्बर काटा भी जाता है वो भी कॉपी जमा करने के बाद। ये बात किसी को भी नहीं बताई जाती है, मैंने तो छात्रा से परीक्षा के दौरान कोई बात भी नहीं की। छात्रा के कूदने की असल वजह तो उसके होश में आने के बाद ही पता चल पाएगी।"

ये सेंट जेवियर्स स्कूल है। यहां के टॉप फ्लोर से कूदकर छात्रा ने सुसाइड की कोशिश की।
ये सेंट जेवियर्स स्कूल है। यहां के टॉप फ्लोर से कूदकर छात्रा ने सुसाइड की कोशिश की।

7 टीचरों पर मुकदमा दर्ज

पडरौना कोतवाली पुलिस ने छात्रा की मां की तहरीर पर तीन अध्यापकों पर नामजद और तीन से चार अज्ञात अध्यापकों पर धारा-305 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। माना जा रहा है कि पुलिस नामजद टीचरों की जल्द गिरफ्तारी कर सकती है।