छात्रा का स्कूल की छत से छलांग बनी पहेली:गोरखपुर के निजी अस्पताल में चल रहा इलाज, होश में आने का इंतजार कर रही पुलिस

कुशीनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुशीनगर में छात्रा के स्कूल की छत से छलांग लगाने के बाद जांच करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
कुशीनगर में छात्रा के स्कूल की छत से छलांग लगाने के बाद जांच करती पुलिस।

पड़रौना नगर पालिका में संचालित सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल के तीसरी मंजिल से छात्रा ने बुधवार को छलांग लगा दी थी। स्कूल में संचालित अर्धवार्षिक परीक्षा में भौतिक विज्ञान का पेपर देने के बाद छात्रा अचानक कमरे से उठकर सीढ़ियों से छत पर गई और कूद गई। इससे उसके सिर, फेफड़ा और पेट में चोट लगी है। अब तक उसे होश नहीं आया है। गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में उसके परिजन इलाज करा रहे हैं।

छात्रा के कूदने के पीछे की असल वजह कोई नहीं बता पा रहा है। मामले को पढ़ाई में औसत और परिवार की आर्थिक स्थिति से जोड़ कर देखा जा रहा। पुलिस ने भी स्कूल के शिक्षक और सहपाठियों से पूछताछ कर परिजनों से बात की है। अब तक नतीजा कुछ खास नहीं निकला हैं।

कक्षा 11 में पढ़ती है छात्रा

स्कूल के टॉप फ्लोर से छलांग लगाने वाली छात्रा गरिमा चतुर्वेदी 11वीं में पढ़ती है। छात्रा के पिता मनोज चतुर्वेदी पूर्व सैनिक थे, जिनकी मौत एक हादसे में हो चुकी है। इनका पैतृक गांव नेबुआ नौरंगीया थानाक्षेत्र के खजूरिया में है। पिता की मौत के बाद मां कालिंदी अपने छोटी बेटी गरिमा के साथ पड़रौना के महंत अवेद्यनाथनगर में बने अपने घर में रहती है। छात्रा की बड़ी बहन जैनी गोरखपुर से पढ़ाई करती और उसका बड़ा भाई बनारस में रहकर पढ़ता हैं। परिवार में पिता के न होने और सभी बच्चों की पढ़ाई में होने से लोग परिवार की आर्थिक स्थिति का तनाव भी बता रहे हैं।

शिक्षक बोले-पढ़ने में है औसत

छात्रा गरिमा के अध्यापक बताते हैं कि वह एक औसत छात्रा थी, जिसका हाईस्कूल में अंक 55 से 60 फीसदी के अंदर था। भौतिक विज्ञान के पेपर में परीक्षा के दौरान उसने कॉपी भरी है, लेकिन अचानक क्या हुआ कि वह छत पर जाकर छलांग लगा दी, किसी को भी समझ नहीं आ रहा।

छात्रा की पूरी फीस है जमा

विद्यालय के प्रधानाचार्य ने बताया कि उसकी फीस भी जमा थी। छात्रा गरिमा के साथियों ने बताया की जाने क्यों वह परेशान थी। इसके पहले उसका स्वभाव काफी सरल था। हमारी भी समझ में नहीं आ रहा कि उसने ऐसा क्यों किया? अब तो उसके होश में आने के बाद ही पता चलेगा।

दो घंटे तक चला ब्रेन का ऑपरेशन

गरिमा के परिजनों को डॉक्टरों ने बताया कि पेट, फेफड़ा व सिर में गंभीर चोट लगी है। दो घंटे तक ब्रेन का मेजर ऑपरेशन भी चला है। घटना के बाद से ही वह बेहोशी हालत में है। वहीं, सूचना मिलने के बाद कोतवाली पुलिस सेंट जेवियर्स स्कूल पहुंची। यहां घटना के वक्त की सीसीटीवी फुटेज की बारीकी से जांच की। शिक्षकों से भी सवाल-जवाब किया। बुधवार की देर शाम तक छात्रा के छलांग लगाने की वजह सामने नहीं आ पाई थी।

खबरें और भी हैं...