ग्राहकों के लाखों रुपये लेकर चम्पत हुआ बीसी संचालक:इंडियन बैंक के ग्राहकों ने पुलिस से मांगी सहायता, बैंक की तीसरी मिनी शाखा ग्राहकों को चपत लगाकर हुई बन्द

धौरहरा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

धौरहरा तहसील के ईसानगर क्षेत्र की चौकी खमरिया के कस्बे में स्थित इंडियन बैंक की शाखा में एक बीसी संचालक ने ग्राहकों का लाखों रुपया लेकर फरार हो गया। जिसमें ग्राहकों ने शाखा प्रबंधक की मिलीभगत होना भी बताया जा रहा है। इंडियन बैंक की शाखा खमरिया पंडित में एक बीसी बैंक से चंद कदमों की दूरी पर उमेश कुमार चौरसिया के दुकान में संचालित थी। जिसमें ग्राहक पुष्पेंद्र का आरोप है कि बीसी संचालक अरूण कुमार उर्फ भोलू निवासी पण्डितपुरवा चौकी खमरिया ने ग्राहकों से लाखों रुपया जमा कराया मगर उनके खाते में जमा नहीं किया।

जिसमें अकेले पुष्पेन्द्र कुमार व उनके सहयोगियों ने 37.92 लाख रुपये जमा किया था। इनके साथ ही कस्बे के मोहन गुप्ता ने 10,50,000 समेत अन्य कई ग्राहक जिन्होंने किसी ने 4,00000 किसी ने 6,00000 की नगदी बीसी पर जमा की थी मगर रकम खातों तक नहीं पहुंची। कुछ दिनों के बाद पुष्पेंद्र ने अपना खाता चेक किया तो पैसा खातों पर नहीं जमा हुआ जिसकी चर्चा होने पर अन्य ग्राहकों ने अपना अपना खाता चेक कराया जिसमें काफी लोगों का पैसा जमा नहीं हुआ पाया गया।

यही नहीं कुछ ऐसे भी ग्राहक है जिनको अभी भी पता नहीं कि उनका भी कुछ न कुछ पैसा बीसी संचालक डकार चुका है। जिसकी जानकारी शाखा प्रबंधक को होना बताया जा रहा है। जिसमें बड़े व्यापारी पुष्पेंद्र समेत अन्य ग्राहकों ने पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है। इस दौरान पुष्पेंद्र ने बताया कि बीसी संचालक कहीं बाहर भाग गया है कई दिनों से बीसी केंद्र पर ताला लगा है जिसकी वजह से ग्राहकों में काफी रोष है। इसके साथ साथ पुष्पेंद्र व एक अन्य ग्राहक कमलेश ने बताया कि---

मामला प्रकाश में आने के बाद जिस दिन से बीसी संचालक अरुण कुमार अचानक गायब हो गया उसी दिन से शाखा प्रबंधक भी छुट्टी लेकर बैंक नहीं आ रहे है। जिसको लेकर ग्राहकों में तरह तरह की चर्चाएं व्याप्त है। फिलहाल कुछ भी हो अपने लाखों रुपये गवां चुके ग्राहकों ने पुलिस से शिकायत करने के बाद से मुख्यमंत्री के जनता दरबार मे जाने की तैयारी शुरू कर दी है। इंडियन बैंक की तीसरी मिनी शाखा ग्राहकों की गाढ़ी कमाई पर पानी फेर हुई बन्दईसानगर क्षेत्र के कस्बा खमरिया में स्थित इलाहाबाद बैंक जो अब इंडियन बैंक के नाम से जानी जाती है।

उसकी यह तीसरी शाखा है जो अब तक ग्राहकों का लाखों रुपये फ्राड कर बन्द हुई है। इससे पहले ऐरा गांव की बसढ़िया में स्थित मिनी शाखा पर सैकड़ों ग्राहकों का लाखों रुपया हजम करने के बाद बीसी संचालक ने शाखा को बंद कर दिया था। दूसरी मिनी शाखा सुर्जनपुर गांव में सर्वेश मौर्या पत्नी के नाम संचालित थी।

जिसमें में गांव के भोले भाले ग्राहकों को लाखों का चूना लगाकर बीसी संचालक द्वारा बड़ी बिल्डिंग खड़ी करने के बाद खुली पोल में लाखों रुपये डकारने का मामला प्रकाश में आने के बाद शाखा बन्द हो गई थी। इसी तरह खमरिया कस्बे की अब यह तीसरी शाखा है जिसमें बड़े बड़े व्यापारियों के साथ साथ छोटे ग्राहकों को लाखों का चूना लगाने जा मामला प्रकाश में आया है। अब देखना यह होगा कि क्या इस बार ग्राहकों के फंसे लाखों रुपये उनको मिल पाते है या नहीं?

खबरें और भी हैं...