मौत का कुआं बना धौरहरा का हरदुहा नाला:लोगों ने नाले को पटवाने के लिए उठाई आवाज, एसडीएम को सौंपा पत्र

धौरहरा15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुरखीरी के धौरहरा कोतवाली क्षेत्र के धौरहरा ढखेरवा मार्ग पर स्थित सबसे गहरा हरदुहा नाला हादसों का हब बनता जा रहा है, अब तक हुई दर्जनों दुर्घटनाओं में लोग चोटिल होने के साथ ही कई लोगों की जान भी जा चुकी है।

आए दिन हो रहे हादसों से निजात दिलाने के लिए कस्बे के समाजसेवियों ने एसडीएम को शिकायती पत्र देकर हरदुहा नाले को पटवाने की मांग की है। जिससे आए दिन हो रहे हादसों पर रोक लग सके।

धौरहरा क्षेत्र के ढखेरवा सिसैया हाइवे पर स्थित सबसे गहरे हरदुहा नाला दुर्घटनाओं के लिए ही जाना जाता है। समाजसेवी तौकीर खा, मोहम्मद इकबाल , सुशील कश्यप , कैलाश मिश्रा समेत अन्य लोगों ने उपजिलाधिकारी धीरेन्द्र सिंह को प्रार्थना पत्र देकर कहा है कि कस्बे के पश्चिम काजीपुरवा गांव के पास ढखेरवा धौरहरा हाइवे पर हरदुहा नाला स्थित है ।

नाले पर पुल भी बना है । पुल से गुजरने के लिए सड़क पर अचानक मोड़ है । अक्सर यहां से गुजरने वाले वाहन चालक अचानक मोड़ के चलते अपने वाहन को नियंत्रित नहीं कर पाते हैं और हादसा हो जाता है । नाले की गहराई अधिक होने के चलते उसमें गिरने के बाद कोई निकल नहीं पाता है । डूबकर अब तक कई लोगों की जान जा भी चुकी है यह नाला बहुत ही गहरा है। जिससे बचाव के लिए इसको बोल्डर पत्थर डलवाकर पटवाये जाने की मांग की गई है।

2008 में एक एम्बुलेंस इसी नाले में गिर गयी थी जिसमें ड्राइवर सहित ईएमटी की मौत हो गयी थी। जिनके शव कई दिन बाद काफी तलाश के बाद बरामद हुए थे। अक्सर पुल पर हादसे होते रहते हैं। बताया जाता है कि यह नाला काफी गहरा है। बीते दिनों बाइक अनियंत्रित होकर नाले पर बने पुल से टकरा गई थी जिससे बाइक पर सवार युवक हरदुहा नाले में गिर गया था ।

नाले में गिरने से उसमें डूबकर उसकी मौत हो गई थी । जबकि उसी बाइक पर सवार उसका साथी बाहर गिरने के चलते मामूली चोटों के बाद सकुशल बच गया था। कस्बे के समाजसेवियों ने एसडीएम धौरहरा धीरेंद्र सिंह से नाले को पटवाने की मांग की है। मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीएम ने विचार कर सुधार करवाने का आश्वासन दिया है।

खबरें और भी हैं...