• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lakhimpur kheri
  • Priyanka Gandhi, Tikait And Chandrashekhar Azad Leave For Kheer In The Night Itself, Punjab CM Channi And Former CM Akhilesh Will Reach Today; Government Preparing To Stop The Leaders At The Border

हिरासत में लिए जाने पर आग बबूला हुईं प्रियंका:CO से बोलीं- जैसे धक्का-मुक्की की गई है उसमें फिजिकल असॉल्ट का केस बनता है...समझे; हाथ लगाकर दिखाओ मुझे

लखीमपुर खीरीएक वर्ष पहले
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को हिरासत में लेकर सीतापुर में PAC गेस्ट हाउस ले जाया गया। वहीं, अखिलेश यादव घर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा में 9 लोगों की मौत मामले में पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष समेत 14 के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। इसमें बलवा और साजिश रचने की धाराएं भी लगाई हैं। लखीमपुर खीरी में रविवार को किसान आंदोलन के बीच भड़की हिंसा में 8 लोगों की मौत हुई थी। आज एक पत्रकार रमन का शव मिला है। अब मृतकों की संख्या 9 हो गई है।

इधर, मृतकों के परिवारों से मिलने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी देर रात दिल्ली से लखनऊ पहुंच गई थीं। फिर वे लखीमपुर के लिए रवाना हुईं, लेकिन सुबह 5:30 बजे प्रियंका गांधी को पुलिस ने सीतापुर जिले में हरगांव बॉर्डर पर हिरासत में ले लिया। प्रियंका रूट बदलकर पुलिस की नजरों से बचते हुए लखीमपुर जा रही थीं। उन्हें PAC गेस्ट हाउस ले जाया गया है। DM, SP सहित भारी पुलिस फोर्स मौके पर हैं। इस दौरान उनका गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाते हुए वीडियो सामने आया है।

लखनऊ में घर के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव।
लखनऊ में घर के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव।

इधर, लखीमपुर जाने से रोके जाने पर अखिलेश यादव लखनऊ में घर के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। इसके बाद कुछ दूरी पर एक पुलिस जीप को सपा कार्यकर्ताओं ने आग लगा दी। अखिलेश यादव ने मंत्री अजय मिश्र का इस्तीफा मांगा है। अखिलेश यादव ने कहा कि, किसानों पर जुल्म हो रहा है। अंग्रेजों से ज्यादा क्रूर हो गई है बीजेपी की सरकार। अखिलेश ने सरकार से सवाल किया कि, विपक्ष को लखीमपुर खीरी क्यों नहीं जाने दिया जा रहा ? सरकार क्या छिपाना चाह रही है?

प्रियंका ने पुलिस को गिनाई धाराएं
हिरासत में लिए जाने पर प्रियंका आग बबूला हो उठीं। उन्होंने पुलिस से कहा- 'अरेस्ट करो हम खुशी से जाएंगे, लेकिन जिस तरह धक्का-मुक्की की गई। इसमें फिजिकल असॉल्ट, अटेंप्ट टू किडनैप, किडनैप, अटेंप्ट टू मोलेस्ट, अटेंप्ट टू हार्म की धाराएं लगती हैं। समझे। मैं समझती हूं। छूकर दिखाओ मुझे। जाकर अपने अफसरों मंत्रियों से वारंट लाओ, ऑर्डर लाओ। महिलाओं को आगे मत करो। मुझे धकेल कर लाए हो। तुम्हारे प्रदेश में यह नहीं चलेगा। देश का कानून चलेगा। तुम्हें कोई हक नहीं है। हेलो सीओ साहब ऑर्डर कहां है? ऑर्डर निकालिए। कौन से ऑर्डर से रोका है आपने मुझे। इसमें मुझे बिठाओगे? ये है लीगल स्टेटस तुम्हारा। इस पर सीओ ने पुलिस वालों को आदेश किया कि पहले (प्रियंका गांधी को) तो अरेस्ट करो।'

प्रियंका गांधी के काफिले को रोकने की कोशिश करते पुलिसकर्मी।
प्रियंका गांधी के काफिले को रोकने की कोशिश करते पुलिसकर्मी।

दरअसल, योगी सरकार ने रविवार की रात अफसरों के साथ बैठक के बाद सियासी नेताओं के लखीमपुर जाने पर रोक लगा दी। उन्होंने कहा है कि जो भी जाने की कोशिश करेगा, उसे गिरफ्तार किया जाएगा। सिर्फ भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत को लखीमपुर जाने की अनुमति मिली है।

लुधियाना के IPS अजयपाल खीरी भेजे गए
खीरी में गरमा रहे माहौल को काबू करने के लिए कई IPS अजयपाल तैनात किए गए हैं। लखनऊ से ADG कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार को भेजा गया है। लंबे समय से साइडलाइन चल रहे SP स्तर के अधिकारी अजयपाल शर्मा को खीरी रवाना कर दिया है। वह मूलत: पंजाब में लुधियाना के रहने वाले हैं। खीरी में जिन किसानों की मौत हुई है, वह भी मूलत: पंजाब के रहने वाले हैं। ऐसे में डैमेज कंट्रोल की कोशिशें जारी हैं।

लखनऊ में अखिलेश यादव के घर के बाहर लगी फोर्स।
लखनऊ में अखिलेश यादव के घर के बाहर लगी फोर्स।

किसी के बहकावे में न आएं, घरों में रहें- योगी
लखीमपुर में हुई हिंसा पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताते हुए कहा कि सरकार मामले की तह तक जाएगी। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे अपने घरों में रहें और किसी के बहकावे में न आएं।

वहीं, CM योगी आदित्यानाथ ने एक हाई लेवल मीटिंग की। इसमें फैसला लिया कि यदि विपक्षी नेता लखीमपुर खीरी जाने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया जाएगा। इसके बाद तमाम बड़े नेताओं के घर के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई है। हालांकि, किसान नेता राकेश टिकैत को जाने की छूट दी गई है।

रविवार को लखीमपुर के तिकुनिया में विरोध प्रदर्शन के दौरान अजय मिश्र के काफिले की गाड़ी से 8 लोगों की कुचलने से मौत हुई। आरोप है कि अजय के बेटे आशीष ने गाड़ी चढ़ा दी थी। हालांकि प्रशासन ने सिर्फ चार मौतों की पुष्टि की है।
रविवार को लखीमपुर के तिकुनिया में विरोध प्रदर्शन के दौरान अजय मिश्र के काफिले की गाड़ी से 8 लोगों की कुचलने से मौत हुई। आरोप है कि अजय के बेटे आशीष ने गाड़ी चढ़ा दी थी। हालांकि प्रशासन ने सिर्फ चार मौतों की पुष्टि की है।