• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lakhimpur kheri
  • Rakesh Tikait Has No Agreement With The Government On Lakhimpur Kheri Case: Said The Police Administration Should Go To Work; Ajay Mishra Will Have To Resign, Ashish Will Be Arrested In Any Case

सरकार से समझौता नहीं, बोले टिकैत:कहा- पुलिस प्रशासन काम पर लग जाए; अजय मिश्र को देना पड़ेगा इस्तीफा, आशीष की हर हाल में होगी गिरफ्तारी

लखीमपुर खीरी18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर खीरी में बुधवार को भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राकेश टिकैत ने कहा कि जो मिनिस्टर सरकार से समझौते की बात कहते घूम रहे हैं, वे ऐसा कहना बंद कर दें। हमारा कोई समझौता नहीं हुआ। 7 दिन बाद पुलिस-प्रशासन काम पर लग जाए।

राकेश टिकैत ने कहा कि अजय मिश्र आरोपी है, उसे इस्तीफा देना पड़ेगा- 'उसका बेटा आशीष मिश्र हर हाल में गिरफ्तार किया जाएगा। अगर सरकार पैसों पर समझौता करना चाहती है तो अपना अकाउंट नंबर दे दे'।

कार्रवाई नहीं हुई तो लेंगे सख्त निर्णय

राकेश टिकैत ने कहा कि मृतक किसानों की रस्म पगड़ी तक वह रुके हुए हैं। सरकार ने 7 दिन का समय मांगा था। आगर इसके बाद कोई कार्रवाई नहीं होती है, तो वह सख्त निर्णय लेंगे। अंतिम अरदास के सवाल पर कहा कि यह फैसला कमेटी लेगी। अंतिम अरदास की तारीख भी कमेटी तय करेगी। तभी तक का सरकार के पास टाइम है। मुकदमे की कॉपी उनके पास है, उससे कोई भी छेड़छाड़ नहीं होगी।

किसी दूसरे की नहीं दर्ज होगी रिपोर्ट

बहराइच में किसान का दोबारा पोस्टमार्टम कराया है। अंतिम संस्कार भी हो गया है। मौत कैसे हुई है, यह सरकार और अधिकारी बताएंगे। कहा कि वीडियो में दिख रहा है, फायरिंग हुई है। उन्होंने बताया कि उनकी सरकार से बात हुई है कि मामले में किसी दूसरे की रिपोर्ट दर्ज नहीं की जाएगी।

3 कानून वापस न होने तक चलेगा आंदोलन

आंदोलन खत्म करने के सवाल पर राकेश टिकैत ने कहा कि अभी सरकार से किसानों के परिवार को मुआवजा और सरकारी नौकरी पर समझौता हुआ है। साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी की बात भी हुई है। इसके बाद तीनों कृषि कानून वापस न होने तक उनका आंदोलन चलता रहेगा।

क्या है मामला?

3 अक्टूबर रविवार को किसानों ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र का विरोध करते हुए काले झंडे दिखाए थे। इसी दौरान मंत्री के काफिले की एक गाड़ी ने किसानों को कुचल दिया था। इससे 4 किसानों की मौत हो गई थी। इसके बाद भड़की हिंसा में एक ड्राइवर समेत चार लोगों को पीट-पीटकर मार डाला था। इस हिंसा में एक पत्रकार भी मारा गया था। इस मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र समेत 15 लोगों के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया गया है।

खबरें और भी हैं...