आरोपी नहीं मिले…तो SIT ने चस्पा करवा दिए पोस्टर:लखीमपुर के तिकुनिया कांड की जांच तेज करने के लिए उठाया कदम

लखीमपुर खीरी7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये लोग कहीं दिखे तो पुलिस को जानकारी दें। - Dainik Bhaskar
ये लोग कहीं दिखे तो पुलिस को जानकारी दें।

लखीमपुर खीरी में कई बार सोशल मीडिया पर तस्वीरें जारी करने के बाद भी जब तिकुनिया कांड के संदिग्धों की पहचान नहीं हुई, तो एसआईटी ने उनके पोस्टर चस्पा करवा दिए।

पोस्टर जिले और आसपास के जिलों के थानों के गेट पर चस्पा किए गए हैं। जिससे फोटो में दिखने वाले लोगों की पहचान हो सके। साथ ही किसानों पर जो मुकदमा दर्ज है, उसकी जांच आगे बढ़ सके।

अब तक 4 आरोपी जा चुके हैं जेल

तिकुनिया कांड में भाजपा नेता सुमित जायसवाल ने अज्ञात किसानों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। एसआईटी इस मुकदमे की भी जांच कर रही है। अब तक चार आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है। एसआईटी के पास इस घटना से संबंधित कई वीडियो और फोटो हैं। जिसमें कुछ संदिग्ध दिखाई दे रहे हैं।

सोशल मीडिया पर भी जारी कर चुके हैं फोटो

उनके हाथ में लाठी और डंडे हैं। एसआईटी पिछले काफी समय से इन संदिग्धों की पहचान कराने की कोशिश कर रही है। ताकि उनको हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की जा सके। एसआईटी इससे पहले कई बार सोशल मीडिया पर इनकी तस्वीरें जारी कर चुकी हैं। लेकिन कोई फायदा नहीं निकला।

आस पास के जिलों में भी चस्पा करवाया

फोटो में देखने वाले किसी भी संदिग्ध की पहचान नहीं हो पाई है। अब एसआईटी ने इनके फोटो का पोस्टर बनाकर चस्पा करवाया है। यह पोस्टर खीरी जिले के थाना और उसके आसपास इलाकों में चस्पा की ही गई है। साथ ही आसपास के जिलों में भी यह पोस्टर चस्पा करवाए गए हैं। ताकि फोटो में दिखने वाले संदिग्धों की पहचान हो सके।

धीमी गति से चल रहा है केस

अगर इनकी पहचान जल्दी हो जाती है, तो जो मुकदमा किसानों को खिलाफ लिखा गया है उसमें एसआईटी की जांच तेजी से आगे बढ़ सकेगी। इनकी पहचान न होने की वजह से किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमे की जांच काफी धीमी गति से चल रही है। इसमें अभी तक सिर्फ चार आरोपियों को ही जेल भेजा जा सका है।