लखीमपुर-खीरी में मामूली विवाद में महिला की हत्या:पुलिस से बचने के लिए दरवाजे पर लगाया बिजली का तार; पुलिस वालों को लगा करंट

लखीमपुर-खीरी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखीमपुर-खीरी में पुलिस को रोकने के लिए आरोपियों ने दरवाजे पर लगाया था बिजली का तार - Dainik Bhaskar
लखीमपुर-खीरी में पुलिस को रोकने के लिए आरोपियों ने दरवाजे पर लगाया था बिजली का तार

लखीमपुर खीरी में दो पक्षों के बीच मामूली विवाद को लेकर गुरूवार की रात जमकर मारपीट हुई। इस घटना में एक महिला की गंभीर चोटों के चलते मौत हो गई। इसके बाद आरोपी पक्ष पुलिस से बचने के लिए घर में चला गया और दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया। साथ ही उससे पहले दरवाजे पर बिजली का तार लगा दिया। पुलिस ने जब ग्रामीणों के साथ मिलकर दरवाजा खुलवाना चाहा। तो गांव वालों और पुलिस वालों को करंट के झटके लगे। बाद में किसी तरह पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने ऐतिहातन गांव में पुलिस को बल को तैनात कर दिया है।

10 दिन पहले चोरी हुआ था महिला का फोन

जिले के कोतवाली क्षेत्र के गांव झउवा पुरवा के नया गांव (टपरी) में गुरदीप सिंह व सोहन गिरि का घर आमने सामने है। 10 दिन पहले सोहन गिरि का मोबाइल चोरी हो गया था। जिसको लेकर उसने गुरदीप सिंह के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी थी। गुरुवार रात करीब आठ बजे गुरदीप के घर गांव का ही पप्पू किसी काम से आया था। जिसे गुरदीप उसके घर छोड़ने गया था।

घर के सामने ही दोनों पक्षों में हुई भिड़ंत

वापस लौटने पर घर के सामने के रास्ते पर सोहन गिरि व उसके बेटे सुरेंद्र, धीरेंद्र ने गुरदीप पर लाठी डंडों से हमला कर दिया। मारपीट का शोर सुनकर उसकी पत्नी रविन्द्र कौर व बेटा कुलदीप सिंह आ गए। दोनों पक्षों में लाठी डंडे, बांके व कुल्हाड़ी चलने लगे। बीच बचाव करने के दौरान गांव के काई लोग चोटिल हो गए। गांव के ही मुख्तार सिंह ने पुलिस को फोन कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल रविन्द्र कौर, गुरदीप सिंह व कुलदीप को सीएचसी पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने रविन्द्र कौर को मृत घोषित कर दिया। वहीं गुरदीप व कुलदीप को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। पुलिस ने शव को पीएम के लिये जिला मुख्यालय भेजा।

खूनी संघर्ष के चलते जमीन पर गिरा खून
खूनी संघर्ष के चलते जमीन पर गिरा खून
मारपीट के चलते गई महिला का जान
मारपीट के चलते गई महिला का जान

दरवाजे में लगा लिया बिजली का तार

घटना की जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को देख आरोपी सोहन, सुरेंद्र व धीरेंद्र ने दरवाजे में बिजली का तार जोड़कर उसे बंद कर लिया। दरवाजा खुलवाते समय पुलिस व कई ग्रामीणों को करंट भी लग गया। कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस दरवाजा खुलवा पाई। मौके से हत्या में प्रयोग की गई कुल्हाड़ी, एक अवैध असलहा, दो जिन्दा कारतूस, व एक कच्ची शराब का बरतन मिला है।

पुलिस ने 6 आरोपियों को भेजा जेल

इस मामले में शुक्रवार को सोहन गिरी और उसका बेटा धीरेंद्र गिरी, सुरेंद्र गिरी, सोहन गिरी की पत्नी फुल कुमारी, बहु खुशबू और गीता को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि मोबाइल चोरी के मामले में पहले ही समझौता करवा दिया गया था। लेकिन उसके बाद भी दोनों पक्षों में लड़ाई क्यों हुई इसकी जांच की जा रही है।

पुलिस सतर्क होती तो नहीं होती घटना

स्थानीय लोगों का कहना है कि झउवा पुरवा के नया पुरवा (टपरी) में कई जगहों पर कच्ची दारू के अड्डे हैं। शाम को रोजाना लोगों का जमावड़ा लगता है व उनमें विवाद होता रहता है। पुलिस इस पर कभी ध्यान नहीं देती है। इसी के चलते इस प्रकार की घटना हुई है।

खबरें और भी हैं...