• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lalitpur
  • Big Action In The Rape Of 28 People From A Teenager In Lalitpur: 4 Arrested Including Father, Brother Of District President; SP BSP District President Absconding, 5 Teams Of Police Are Searching

ललितपुर गैंगरेप प्रकरण में बड़ी कार्रवाई:पिता, जिलाध्यक्ष के भाई समेत 4 को जेल, सपा-बसपा जिलाध्यक्ष फरार; 455 पर FIR

ललितपुर7 दिन पहले

ललितपुर में 17 साल की छात्रा के साथ 28 लोगों के दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस ने बुधवार देर रात बड़ी कार्रवाई की। पुलिस ने छापेमारी कर छात्रा के पिता, उसके दो चाचा और सपा जिलाध्यक्ष के भाई अरविंद यादव समेत 4 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इधर, छापेमारी की सूचना मिलते ही सपा-बसपा जिलाध्यक्ष और अन्य आरोपी फरार हो गए हैं। पुलिस की चार टीमें उनकी तलाश कर रही हैं।

उधर, रेप पीड़िता का नाम उजागर करने और धारा 144 के उल्लंघन पर सपा-बसपा के 455 कार्यकर्ताओं पर FIR दर्ज की गई है।

पिता ने रिश्तों को किया शर्मसार

कोतवाली सदर क्षेत्र की रहने वाली छात्रा से छह साल से उसका पिता दुष्कर्म कर रहा था। उसे रुपयों के लिए होटलों में भी भेजता था। किशोरी से डरा-धमकाकर पिता उससे यह सब काम करा रहा था। उसकी खामोशी का फायदा उठाकर रिश्तेदारों ने भी उसके साथ रेप किया। सोमवार को उसने मां के साथ थाने पहुंचकर तहरीर दी।

मामले में सपा के जिलाध्यक्ष तिलक यादव, उनके चार भाई, नगर अध्यक्ष राजेश जोझिया, पार्षद महेंद्र सिंघई, बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार और उपाध्यक्ष समेत 28 लोगों पर रेप का मुकदमा दर्ज है।

सोमवार को किशोरी ने मां के साथ थाने पहुंचकर तहरीर दी। इसके बाद उसका मेडिकल कराया गया।
सोमवार को किशोरी ने मां के साथ थाने पहुंचकर तहरीर दी। इसके बाद उसका मेडिकल कराया गया।

11 साल की थी किशोरी, जब पहली बार हुई दरिंदगी

किशोरी के मुताबिक, जब वह 6वीं क्लास में पढ़ती थी तो उसके पिता उसे घुमाने के बहाने बाहर ले गए। उन्होंने अपने मोबाइल में अश्लील वीडियो देखने का दबाव डाला। मना करने पर वे काफी नाराज हुए। अगले दिन नए कपड़े देकर फिर से घुमाने ले गए। बताया कि पिता ने ग्राम महेशपुरा के खेतों में डरा-धमकाकर रेप किया। साथ ही किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

बेटी को बनाया कमाई का जरिया

किशोरी के मुताबिक, रेप करने के अगले दिन उसका पिता उसे स्टेशन के एक होटल में ले गया। वहां पर एक महिला मिली। जो उसे रूम में ले गई। रूम में एक युवक पहले से मौजूद था। कुछ देर बाद वह बेहोश हो गई। होश आया तो उसके कपड़े अस्त-व्यस्त थे और पेट में दर्द हो रहा था। वह किसी तरह से घर पहुंची। उसने घर आकर पिता से पूछा कि होटल में क्या हुआ था। जिस पर उसके पिता ने कहा, अब रोज यही काम करना पड़ेगा।

सपा-बसपा जिलाध्यक्ष और उपाध्यक्ष समेत 28 लोगों पर रेप का मुकदमा दर्ज है।
सपा-बसपा जिलाध्यक्ष और उपाध्यक्ष समेत 28 लोगों पर रेप का मुकदमा दर्ज है।

स्कूल से ले जाकर पिता दूसरों से करवाता था रेप

किशोरी का पिता उसे रोज स्कूल से ले जाता था। इसके बाद होटल में दूसरे युवकों के पास छोड़ देता था। वहां पर उसके साथ रेप किया जाता था। किशोरी के मुताबिक, उसके ताऊ और तीन चाचाओं ने भी घर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। वहीं, उसके चचेरे भाइयों ने भी दरिंदगी की। जब उसने अपनी दीदी से शिकायत की तो उन्होंने भी चुप रहने का कहा।

महिला थाने में शिकायत की, पर नहीं हुई सुनवाई

किशोरी ने बताया कि कुछ दिन पहले वह परेशान होकर अपनी मां के साथ महिला थाने गई। वहां पर उसने शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसकी जानकारी जब उसके पापा को हुई तो उसे और उसकी मम्मी को मारपीट कर घर में बंद कर दिया।

कई बार बेचने का भी प्रयास किया

13 जुलाई को किशोरी अपने चाचा की लड़की की शादी में गई थी। वहां पर सभी ने उसे बेचने का प्रयास किया। इसके बाद कई बार और बेचने का प्रयास किया। जिससे तंग आकर सोमवार को पीड़िता ने मां व भाई के साथ खुद को घर में कैद कर लिया।

छात्रा ने अपने साथ हो रही दरिंदगी का वीडियो बनाकर महिला आयोग और चाइल्ड केयर भेजा था।
छात्रा ने अपने साथ हो रही दरिंदगी का वीडियो बनाकर महिला आयोग और चाइल्ड केयर भेजा था।

वीडियो में बताई थी आपबीती

छात्रा ने अपने साथ हो रही दरिंदगी का वीडियो बनाकर महिला आयोग और चाइल्ड केयर भेजा था। जिसके बाद पुलिस सक्रिय हो गई थी। पुलिस फौरन पीड़िता के घर पहुंची, लेकिन उसने दरवाजा नहीं खोला। बाद में एसपी निखिल पाठक पीड़िता के घर पहुंचे। उन्होंने न्याय का भरोसा दिलाया। तब जानकर पीड़िता ने दरवाजा खोला। किशोरी को मेडिकल के लिए भेजा गया। साथ ही कोर्ट में उसके बयान दर्ज हुए।

पुलिस की ओर से दर्ज कराई गई FIR

नाबालिक रेपकांड में सपा व बसपा जिलाध्यक्षों पर मुकदमा लिखे जाने से आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने बुधवार को प्रदर्शन किया था। इस दौरान धारा 144 और कोविड नियमों का उल्लंघन किया। जिस पर झांसी के सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप समेत 251 कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज किया है।

जबकि धारा 144 के उल्लंघन और ज्ञापन में रेप पीड़िता का नाम उजागर करने पर बसपा के 204 कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज किया गया है। इसमें पूर्व विधानसभा प्रत्याशी संतोष कुशवाहा, विधानसभा अध्यक्ष संतोष अहिरवार, अध्यक्ष संजय कुमार और रहीश सिंह शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...