ललितपुर में भूख हड़ताल पर परिवार:बेटी का तिलक चढ़ाने के लिए जाते वक्त 4.50 लाख हो गए थे चोरी, 21 दिन बाद नहीं हुआ खुलासा

ललितपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चोरी के खुलासे की मांग को लेकर 21 दिन से भटक रहा एक परिवार भूख हड़ताल पर घंटाघर मैदान में बैठ गया है। - Dainik Bhaskar
चोरी के खुलासे की मांग को लेकर 21 दिन से भटक रहा एक परिवार भूख हड़ताल पर घंटाघर मैदान में बैठ गया है।

ललितपुर में चोरी के खुलासे की मांग को लेकर 21 दिन से भटक रहा एक परिवार भूख हड़ताल पर घंटाघर मैदान में बैठ गया है। पुलिस ने कहा कि पुलिस टीम आरोपियों को पकड़ने के लिए जुटी है ।कोतवाली सदर अंतर्गत मोहल्ला नेहरू नगर निवासी हरिदास राणा (86) बुधवार बहु व नाती के साथ भूख हड़ताड़ पर घंटाघर मैदान पर बैठे हुए हैं।

थाने में दर्ज कराई थी रिपोर्ट

बुजुर्ग हरिदास बताते कि 10 नवम्बर को उनकी नातिन का तिलकोत्सव का कार्यक्रम था। जिसके लिए वह लोगों के साथ एक बैग में साढ़े चार लाख रुपए लेकर बाजार में एक सुपर ड्राईफ्रूट की दुकान पर गया था। वहां उसका बैग चोरी हो गया। पीड़ित ने थाने में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। हरिदास ने बताया कि 14 नवम्बर को नातिन की शादी थी। इसलिए उसने दोस्तों व रिश्तेदारों से कर्ज लेकर शादी कर दी।

जिला अस्पताल में मिला था बैग

पीड़ित ने बताया कि उसी दिन शाम को उसका खाली बैग जिला अस्पताल परिसर में मिला। लेकिन पुलिस ने न तो वहां लगे सीसीटीवी कैमरे तक नहीं देखे। चोरी के 21 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अब तक चोरी का खुलासा नहीं कर पाई हैं। उसने बताया कि वह कर्ज में है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार शुक्ला ने बताया कि चोरी के खुलासे के लिए पुलिस टीमें लगी हुई।