पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lalitpur
  • Numbers Were Not Given In The Mark Sheets Of 877 Students, The School Administration Called For Talks; Uproar Caused Due To Meeting Being Inconclusive

ललितपुर में प्रदर्शन करने वाले छात्रों पर लाठीचार्ज:877 छात्रों की मार्कशीट में नहीं चढ़ाए गए थे नंबर, स्कूल प्रशासन ने वार्ता के लिए बुलाया; बैठक बेनतीजा होने के चलते हुआ हंगामा

3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ललितपुर में छात्रों की पिटाई व पत्रकारों से अभद्रता के बाद हो रहा प्रदर्शन। - Dainik Bhaskar
ललितपुर में छात्रों की पिटाई व पत्रकारों से अभद्रता के बाद हो रहा प्रदर्शन।

ललितपुर में स्कूल प्रशासन की लापरवाही के चलते 877 छात्रों की इंटर की मार्कशीट में नंबर नहीं चढ़ाए जाने से नाराज छात्रों ने प्रदर्शन किया था। जिसके बाद उन लोगों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। कुछ स्टूडेंटस के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो गई। वहीं कवरेज के दौरान एएसपी ने पत्रकारों के साथ अभद्रता की। जिसके चलते पत्रकार सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन करते हुए एएसपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। साथ ही छात्र सभा ने भी प्रदर्शन किया । डीएम में लाठीचार्ज की न्याययिक जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है। प्रदेश के राज्यमंत्री मन्नू कोरी ने घटना की निंदा करते हुए पूरे मामले को मुख्यमंत्री तक पहुंचाने की बात कही है।

877 छात्रों की मार्कशीट पर नहीं छपे नंबर
जिले के राजकीय इंटर कॉलेज के इन्टरमिडीएट के 877 छात्रों की मार्कशीट में अंक नहीं मिलने के चलते एक महीने से छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों से बात करने के लिए प्रशासन ने राजकीय इंटर कॉलेज में सोमवार की शाम 5 बजे छात्रों को बुलाया था। जहां छात्र नेता एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष मोंटी शुक्ला व समाजवादी छात्र सभा के जिला अध्यक्ष सतेंद्र यादव सेतू के नेतृत्व में छात्र व एसडीएम सदर संतोष उपाध्यक्ष , सीओ सिटी फूलचन्द्र , जिला विद्यालय निरीक्षक रामशंकर व जिआईजी के प्रधानचार्य के बीच रात 8 बजे तक बैठक चली।

बेनतीजा बैठक से भड़के छात्र
बैठक बेनतीजा होने पर छात्रों ने प्रदर्शन करते हुए जीआईसी कॉलेज के मुख्य गेट पर ताला लगा दिया। जिसके बाद छात्रों को भगाने के लिए पुलिस बल बुला लिया गया। जिसके बाद पुलिस ने छात्रों पर लाठीचार्ज किया। जिसकी वजह से छात्र इधर-उधर भागने लगे। पुलिस ने छात्रों को दौड़ा दौड़ा कर मारा। छात्र नेता मोंटी शुक्ला सहित कई छात्रों को पुलिस पकड़कर कोतवाली ले गई।

एएसपी ने पत्रकारों से की अभद्रता
वहीं एएसपी ने कवरेज कर रहे पत्रकारों से अभद्रता कर दी। जिससे नाराज होकर प्रेस क्लब के नेतृत्व में पत्रकारों ने प्रदर्शन करते हुए डीएम को ज्ञापन सौंपकर एएसपी पर कार्रवाई की मांग की है। मंगलवार को राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य अरुण बाबू शर्मा ने कई अज्ञात छात्रों पर विद्यालय में तोड़फोड़ करने व ताला बंद कर अधिकारियों को बंधक बनाने व गाली गलौच करने का मामला दर्ज कराया दिया ।

डीएम ने जांच के दिए आदेश
डीएम दिनेश कुमार ने छात्रों पर हुई लाठीचार्ज के मामले में जांच के लिए तीन सदस्यीय न्याययिक जांच कमेटी का गठन किया है। वहीं उन्होंने कहा कि राजकीय इंटर कालेज द्वारा बरती गई लापरवाही के मामले में रिटायर हो चुके प्रधानाचार्य सहित अन्य लोगो पर कार्रवाई के लिए शासन को पत्र लिखा गया है।

राज्यमंत्री ने की निंदा
प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन राज्यमंत्री मनोहर लाल पंथ मन्नू कोरी ने छात्रों पर हुई लाठी चार्ज व पत्रकारों के साथ हुई अभद्रता की निंदा की है। उन्होंने कहा कि दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...