IPS के फार्म हाउस में लटका मिला मैनेजर का शव:10 साल से देखरेख कर रहा था विजय, पहले केयरटेकर की हुई थी गला रेतकर हत्या

लखनऊ2 महीने पहले

लखनऊ में डीजी होमगार्ड बीके मौर्य के फार्म हाउस में मैनेजर का शव फंदे पर लटका मिला है। मृतक का नाम विजय मौर्य था। वह 10 साल से फार्म हाउस में नौकरी कर रहा था। परिजन ने हत्या का आरोप लगाया है। 50 बीघा में बने इस फार्म हाउस में 10 साल पहले भी एक केयरटेकर की गला रेतकर हत्या हुई थी। घटना जिले के माल थाना क्षेत्र की है।

मंगलवार को 28 साल के विजय का शव फार्म हाउस में पेड़ से प्लास्टिक की रस्सी के सहारे लटका मिला। सबसे पहले गांव के लोगों ने शव देखा तो परिजन और पुलिस को सूचना दी। फोरेंसिक टीम के साथ पुलिस मौके पर पहुंची। शव को फंदे से उतारा और पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। मृतक की जेब से एक पर्ची मिली है। हालांकि उसमें क्या लिखा है, पुलिस ने इसकी जानकारी नहीं दी है।

लखनऊ के मलिहाबाद में युवक का शव मिलने के बाद मौके पर जुटी लोगों की भीड़।
लखनऊ के मलिहाबाद में युवक का शव मिलने के बाद मौके पर जुटी लोगों की भीड़।

10 सालों से कर रहा था फार्म हाउस में काम
विजय शादीशुदा था। वह फार्म हाउस से करीब दो किलोमीटर दूर गुलौली गांव का रहने वाला था। उसके परिवार में पत्नी और दो बेटियां हैं। बताया जा रहा है कि मंगलवार को दिन में ही विजय अपने 5 दोस्तों के साथ ससपन गांव गया था। आखिरी बार गांव के लोगों ने उसे वहीं पर देखा था।

विजय की पत्नी और दोनों बेटियां। पत्नी ने हत्या करके शव लटकाने का आरोप लगाया है।
विजय की पत्नी और दोनों बेटियां। पत्नी ने हत्या करके शव लटकाने का आरोप लगाया है।

पुलिस ने कहा- प्रेम प्रसंग का मामला
माल थाने के SHO प्रवीण कुमार ने बताया कि विजय की मौत का मामला प्रेम-प्रसंग से जुड़ा है। बताया जा रहा है कि उसका किसी महिला से अफेयर था। पोस्टमॉर्टम में गला कसने से मौत होने यानी सुसाइड करने की पुष्टि हुई है। शरीर पर किसी तरह की बाहरी चोट के निशान नहीं है। परिजन ने अभी मामले में तहरीर नहीं दी है। पुलिस जांच कर रही है।

इसी पेड़ से फंदे के सहारे युवक की लाश लटकती हुई मिली।
इसी पेड़ से फंदे के सहारे युवक की लाश लटकती हुई मिली।

परिजन बोले-हत्या कर शव लटकाया
हालांकि विजय के परिजन का कहना है कि हत्या करके शव को पेड़ से लटकाया गया। विजय अपने 7 भाइयों में चौथे नंबर का था। मां रामकली और पत्नी प्रीति मौर्य इंडिया प्लान की कार्यकर्ता हैं। विजय की 2 बेटियां हैं। बड़ी बेटी तनिष्का 6 साल और छोटी बेटी 8 महीने की है।

फार्म हाउस में युवक का शव मिलने के बाद गांव की महिलाएं भी मौके पर पहुंच गईं।
फार्म हाउस में युवक का शव मिलने के बाद गांव की महिलाएं भी मौके पर पहुंच गईं।

20 साल पहले IPS ने खरीदा था फार्म हाउस
अटारी और सुरतीखेड़ा गांव के बीच IPS का फार्म हाउस है। बीके मौर्य ने करीब 20 साल पहले 50 बीघा जमीन खरीदी थी। इसमें बीके मौर्य के पिता खेती करवाते थे। 10 साल से विजय फार्म की देखरेख कर रहा था। ग्रामीणों ने बताया कि एक साल पहले भी विजय को जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी। हालांकि इसके बारे में पुलिस या परिवार के लोगों से कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

10 साल पहले हुई हत्या का सुराग नहीं मिला
घटना की सूचना पर IPS बीके मौर्य भी फार्म हाउस पहुंचे। डीजी ने बताया- 10 साल पहले मेरे फार्म हाउस की देखरेख कर रहे अशोक कुमार मौर्य की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी, लेकिन अभी तक हत्या का सुराग नहीं मिला। अब विजय की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई है। इस घटना का खुलासा होना जरूरी है।

खबर के आखिरी में इस पोल में शामिल होकर अपनी राय दे सकते हैं...

पिछले साल 19 जून को दिया गया था जहर

दैनिक भास्कर की टीम विजय के गांव गुलौली में पहुंची। टीम ने परिवार के सदस्यों से बातचीत की। विजय की पत्नी प्रीति ने बताया "19 जून 2021 को फार्म हाउस में विजय को जहर दिया गया था। परिजन भी फार्म हाउस पर आते-जाते रहते हैं। परिवार के लोग जब फार्म हाउस पर पहुंचे तो विजय बेहोश पड़े थे। परिजन उन्हें लेकर माल इलाके के कृष्णा नर्सिंग होम में पहुंचे थे। वहां चिकित्सकों ने बताया कि जहर से हालत बिगड़ी है। अस्पताल में 3 दिन तक विजय का इलाज चला था। इसके बाद वह स्वस्थ हो गए थे। विजय ने जहर वाली बात किसी को बताने से मना किया था। इसलिए उस दौरान मामले की जानकारी पुलिस को भी नहीं दी गई थी।"

विजय का परिवार इसी घर में रहता है।
विजय का परिवार इसी घर में रहता है।

'लड़की का मैटर है तो कोई सामने क्यों नहीं आ रहा'
पत्नी प्रीति ने बताया "विजय रोज बेटी को स्कूल छोड़ने जाते थे। वह जिम्मेदार थे। अगर जान देते तो सोचते जरूर कि बच्चियों का क्या होगा?, बेटी कैसे पढ़ने जाएगी?, मेरे पति का स्वभाव काफी अच्छा था। मामले को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया। अगर लड़की का मैटर है तो कोई सामने क्यों नहीं आ रहा। प्रेम प्रसंग का मामला है तो उस लड़की को सामने लाइए, कहीं उसके परिवार वालों ने ही तो नहीं मेरे पति को मार दिया ?, विजय के नाखून में मिट्‌टी फंसी हुई थी। कपड़े धूल से सने थे, क्या ये कपड़े मिट्टी में लोटने से गंदी हो जाएंगे?, उनकी हत्या की गई है।"

विजय के गांव में उसके घर के बाहर लोगों से जानकारी जुटाती पुलिस।
विजय के गांव में उसके घर के बाहर लोगों से जानकारी जुटाती पुलिस।
पत्नी प्रीति ने पति की हत्या का आरोप लगाया है।
पत्नी प्रीति ने पति की हत्या का आरोप लगाया है।

रोजाना बेटी को छोड़ने जाता था स्कूल

प्रीति ने बताया "विजय रोजाना बड़ी बेटी तनिष्का को स्कूल छोड़ने जाते थे। वह कभी फार्म हाउस तो कभी रात में घर पर रुका करते थे। जब वह फार्म हाउस पर होते तो रोजाना सुबह 7:30 और 8 बजे के आसपास घर पहुंच जाते थे। इसके बाद चाय-नाश्ता कर बेटी को स्कूल छोड़ने के लिए जाते थे। बुधवार की सुबह बेटी को स्कूल छोड़ने के समय जब वह नहीं पहुंचे तो फिक्र होने लगी। उसके बाद उनके दोनों मोबाइल नंबरों पर मैं फोन करने लगी। काफी देर तक फोन रिसीव नहीं हुआ। 40 से 50 बार फोन किया गया। एक से 2 बार उनका फोन बिजी भी बताया। बगल के गांव सुरतीखेड़ा का छोटू, अटारी का शुभम साहू, छोटू के पापा मेहरबान विजय के साथ ही फार्म पर ही सोए थे। काफी देर तक जब विजय का फोन नहीं उठा तो उन्हें फोन किया। उन्होंने बताया कि विजय की डेड बॉडी पेड़ से लटक रही है।

बेटे विजय के बारे में पूछने पर मां रामकली की आंखें नम हो गईं।
बेटे विजय के बारे में पूछने पर मां रामकली की आंखें नम हो गईं।

'हमार भैया बहुत नीक रहय"

विजय के बारे में पूछने पर विजय की मां रामकली फफक कर रो पड़ीं। बहुत समझाने पर वह शांत हुईं। इसके बाद बताया "हमार भैया मार दिया गय, हमार भैया बहुत नीक रहय, घर में सब केहु से मिल-जुल कय रहत रहय, जब आवै तौ हमका मिल कय ही जात रहय, अब हम का करि, बुढ़ापा में चलियो नाहीं पावत हई। कइसे देखभाल होइंहै बचवन कै, हमरे भैया का मार डाला गय, हम सबका न्याय चाही "