यूपी ने 3 दिन में खरीदी 142 करोड़ की बिजली:17 रुपए यूनिट के हिसाब से बिजली खरीदकर सप्लाई की, कोयले का स्टॉक सिर्फ 2 दिन का

लखनऊ8 महीने पहले

उप्र राज्य विद्युत उत्पादन निगम की किसी भी यूनिट में अब दो दिन से ज्यादा का कोयले का स्टॉक नहीं बचा है। कोयला खत्म होने से यूनिटों के बंद होने का क्रम जारी है। अब तक करीब 5000 मेगावॉट बिजली की सप्लाई कोयला न होने से प्रभावित है। वहीं, एनर्जी एक्सचेंज से महंगी बिजली खरीदने का क्रम जारी है। 2 करोड़ 70 लाख यूनिट बिजली बाहर से खरीदनी पड़ी है। प्रदेश सरकार पिछले तीन दिन में अब तक 142 करोड़ रुपए से ज्यादा की बिजली खरीद चुकी है।

17 रुपए प्रति यूनिट खरीदी गई बिजली
प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को 17 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदी है। जबकि पावर कॉरपोरेशन ने नियम बना दिया था कि वह 7 रुपए प्रति यूनिट से ज्यादा महंगी बिजली नहीं खरीदेगा। लेकिन निजी घराने एनर्जी एक्सचेंज पर लगातार महंगी बिजली बेच रहे हैं। उप्र राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा का कहना है कि एक्सचेंज पर भी उत्पादन की लागत 6 रुपए प्रति यूनिट से ज्यादा नहीं है। उसके बाद भी कंपनियां लगातार महंगी बिजली बेचकर मुनाफा कमाने पर जोर दे रही हैं।

कोयले की कमी दूर करने ठोस प्रयास नहीं
कोयले की कमी की मौजूदा स्थिति हाल-फिलहाल दूर होते हुए नहीं दिख रही है। कमी को दूर करने का कोई ठोस प्रयास नहीं हो रहा है। सामान्य तौर पर 15 दिन का कोयले का रिजर्व स्टॉक होना चाहिए। जबकि अनपरा के पास केवल डेढ़ दिन का स्टॉक बचा है और परीछा में आधे दिन का।

ऊर्जा मंत्री को दिया ज्ञापन
उपभोक्ता परिषद ने ऊर्जा मंत्री को एक प्रस्ताव सौंपा है, जिसमें एक्सचेंज की बिजली का अधिकतम मूल्य तय करने की बात कही गई है। दलील है कि केंद्र का कानून है कि कोई भी बिजली की ट्रेडिंग करने वाला अधिकतम 4 पैसा प्रति यूनिट से ज्यादा नहीं कमा सकता है। अवधेश वर्मा ने बताया कि एक सप्ताह में इंडियन एनर्जी एक्सचेंज के शेयरों में 143 रुपए का उछाल आया है। यह उछाल लगभग 23 प्रतिशत का है।

3500 मेगावॉट पूरी तरह बंद
कोयल की कमी के कारण 3500 मेगावॉट सप्लाई पूरी तरह से बंद है। इसके अलावा पांच अलग-अलग उत्पादन गृहों में 1764 मेगावॉट सप्लाई भी पर्याप्त कोयला मिलने से नहीं हो रही है। ऐसे में शुक्रवार को करीब 5264 मेगावॉट सप्लाई कोयला न मिलने से प्रभावित रही।

किस उत्पादन यूनिट में कितने दिन का कोयला बचा

अनपरा - डेढ़ दिन

ओबरा - दो दिन

परीछा - आधा दिन

हरदुआगंज - एक दिन

खबरें और भी हैं...