यूपी में 4 दिन में कोरोना के 4154 मामले:सबसे ज्यादा गौतमबुद्ध नगर में 1100 केस; लखनऊ में मेदांता-KGMU के बाद लोकबंधु के डॉक्टर भी संक्रमित

लखनऊ7 महीने पहले

उत्तर प्रदेश में कोरोना की रफ्तार बढ़ती जा रही है। बीते 4 दिन में कोरोना के 4 हजार 154 नए केस सामने आए हैं। NCR के करीबी 3 जिले कोरोना के एपिसेंटर बने हुए हैं। गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद और मेरठ इन तीन जिलों में ही 2 हजार 300 से ज्यादा एक्टिव केस हैं। लखनऊ में भी एक्टिव केस की संख्या 700 के पार हो चुकी है।

गाजियाबाद-नोएडा में जिम, स्वीमिंग पूल बंद कर दिए गए हैं। आईटी कंपनियों को वर्क फ्रॉम होम के लिए कह दिया गया है।

लखनऊ में मेदांता और KGMU के बाद आज लोकबंधु अस्पताल में भी 3 कोरोना संक्रमित मिले हैं। यहां डॉक्टरों के अलावा एक फार्मासिस्ट की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। उधर, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी कुलपति समेत 18 पॉजिटिव मिले हैं।

मेडिकल कॉलेजों में क्लासेज बंद

राजधानी लखनऊ में भी कोरोना के ताबड़तोड़ केस सामने आ रहे है। यहां निजी अस्पताल मेदांता के बाद अब KGMU में भी कोरोना संक्रमित डॉक्टर मिले हैं। यहां 4 रेजिडेंट और एक वरिष्ठ डॉक्टर के कोरोना की चपेट में आने के बाद से MBBS, BDS और नर्सिंग की ऑफलाइन पढ़ाई पर ब्रेक लगा दिया गया है। अब ऑनलाइन माध्यम से यहां पढ़ाई की जाएगी। वहीं, पीएम मोदी का लखनऊ प्रस्तावित दौरा रद्द होने के बाद दीक्षांत समारोह में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहेंगे।

यूपी में कोरोना ब्लास्ट, मोदी-योगी-अखिलेश ने कैंसिल की रैली:सपा अध्यक्ष ने कैंसिल की रथ यात्रा, PM भी लखनऊ नहीं आएंगे; योगी भी नोएडा नहीं जाएंगे

लखनऊ के इन अस्पतालों में भर्ती है मरीज

लखनऊ में कोरोना के सक्रिय मामले 757 है। यहां 24 मरीज अस्पताल में भर्ती है। कमांड अस्पताल में 16 मरीज भर्ती है। वही 6 को किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी व 2 मरीज SGPGI में भर्ती किए गए है। वहीं सीएमओ लखनऊ की मानें तो यह मरीज किसी अन्य बीमारी के कारण अस्पताल में भर्ती किए गए थे, और वहीं जांच के दौरान कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। किसी की भी स्थिति चिंताजनक नही है।

मथुरा में कोरोना ब्लास्ट:एक दिन में 48 लोग हुए कोरोना संक्रमित, एक्टिव केसों की संख्या हुई 104

10वीं तक के सभी स्कूलों में 16 जनवरी तक अवकाश

सीएम योगी ने देर रात टीम 9 के उच्च स्तरीय अफसरों के साथ बैठक की। इस दौरान 10वीं तक के सभी विद्यालयों में 16 जनवरी तक अवकाश घोषित किया गया। कक्षा 11-12 के स्टूडेंट्स को केवल वैक्सीनेशन के लिए ही स्कूल बुलाने के निर्देश जारी हुए। इसके अलावा आंगनबाड़ी के बच्चों का पोषाहार उनके घर पर उपलब्ध कराने की व्यवस्था करने की भी बात कही।

इसके अलावा निगरानी समिति व इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर को पूरी तरह सक्रिय करने की भी बात कही। वहीं, विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना के नए वैरिएंट के संक्रमण दर को देखते हुए अगले 15 दिन बेहद अहम है, इसीलिए इस दौरान कोविड एप्रोप्रियेट बेहवियर का पालन करने पर जोर दिया गया।

UP में 11वीं-12वीं के भी स्कूल बंद, छात्र ऑनलाइन पढ़ेंगे:10वीं तक के स्कूलों में 14 की बजाय 16 तक छुट्‌टी, कोरोना के 2038 नए केस आए; मेरठ में एक मरीज की मौत

18 साल से ज्यादा उम्र के 87.77 फीसदी लोगों को लगी वैक्सीन की पहली डोज

अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक 15 से 18 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन की शुरुआत प्रदेश में 3 जनवरी से हो चुकी है। अब तक प्रदेश में 15 से 18 साल तक के 4 लाख 60 हजार 237 बच्चों को को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। वही टीकाकरण के दिन व उसके अगले दिन वैक्सीनेटेड बच्चों को अवकाश की सुविधा मिलेगी।

यदि स्कूल में वैक्सीनेशन कैम्प लगाए जाते हैं तो उसके अगले दिन स्कूल में भी अवकाश रहेगा। इसके अलावा 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में प्रदेश में अब तक 12 करोड़ 93 लाख 95 हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगी है। वहीं 7 करोड़ 54 लाख 36 हजार को दोनों डोज लग चुकी है।

गाजियाबाद में जिम-स्वीमिंग पूल बंद:24 घंटे में 360 केस मिले, प्रशासन ने IT कंपनियों से कहा- वर्क फ्रॉम होम करें

एएमयू वीसी समेत 18 पॉजिटिव, 84 एक्टिव:अलीगढ़ में लगातार बढ़ रही है कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या; 2 ओमिक्रॉन के मरीज भी मिले

UP में शादी से लेकर रेस्टोरेंट तक पर पाबंदियां, नोएडा में नो मास्क, नो सामान का आदेश