हर गोली से दुश्मन को ढेर करेंगे:कमांडो की परीक्षा में 46 जवान पास, प्रदेश के सीमाओं पर निगहबानी के लिए जल्द भेजे जाएंगे

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइटर्स को BSF के ट्रेनिंग सेन्ट - Dainik Bhaskar
फाइटर्स को BSF के ट्रेनिंग सेन्ट

PAC और सिविल पुलिस से SPOT (Special Police Operation Team) में शामिल होने आए 46 जवानों ने कमांडो की परीक्षा पास कर ली है। इन्हें अब ATS की टीम में शामिल प्रदेश की सीमाओं पर तैनात होने के लिए भेजा जाएगा।

आईजी एटीएस जीके गोस्वामी ने बताया कि इस प्रशिक्षण सत्र में कुल 46 जवानों ने सकुशल प्रशिक्षण प्राप्त किया। यह अब UP ATS की स्पॉट में शामिल हो चुके हैं। इन फाइटर्स को अब इनके ड्यूटी पॉइंट पर भेजा जाएगा। यह प्रशिक्षण-सत्र कुल 3 माह का था जिसमे 1 माह के इन्डक्शन कोर्स को पास करने वाले कैडेट्स को ही सम्मिलित किया गया था।

हाई रिस्क ऑपरेशन के लिए तैयार किये गए लड़ाके

आईजी ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान फाइटर्स की कार्यदक्षता, शारीरिक व मानसिक क्षमता और हाई रिस्क ऑपरेशन को अंजाम देने के कौशल को विकसित करने के उद्दयेश से ही इस कोर्स को डिजाईन किया गया था। जिसमे कैडेट्स को कॉम्बैट फिटनेस ट्रेनिंग (CFT), प्रोक्सिमेट यूज़ ऑफ़ फ़ोर्स (PUF) व फायर आर्म ट्रेनिंग (FAT) करायी गयी।

एक गोली से एक दुश्मन को ढेर करने का लक्ष्य

आईजी के मुताबिक इस ट्रेनिंग से फाइटर न केवल शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहेंगे बल्कि किसी भी विषम परिस्थिति जैसे अर्बन वारफेयर, एंटी हाईजैकिंग व होस्टेज से निपटने में सक्षम हो चुके हैं। फाइटर्स की फायरिंग दक्षता को बढांने के लिए इन्हे डबल टैप, कवर फायर, स्ट्रेस फायर में निपूर्ण बनाया गया है। जिससे वह एक गोली एक दुश्मन के मानक को पूरा कर आपात परिस्थिति में भी अचूक निशाना लगा सकें।

BSF ने सिखाया दुश्मनों से लड़ने का हुनर

फाइटर्स को Border Security Force (BSF) के ट्रेनिंग सेन्टर BIAAT-देहरादून, उतंराखण्ड में ट्रेनिंग दिलाई गई है। प्रशिक्षण के दौरान कमांण्डो को 10000 फीट से भी अधिक ऊंची दुर्गम पहाड़ियो पर रॉक क्लाइम्बिंग, रीवर राफ्टिंग, पैरा ग्लाइडिंग व कमांण्डो जंप जैसे प्रशिक्षण दिए गए। इससे फाइटर्स में जोखिम लेने की क्षमता, साहसिक पहल करने की क्षमता, मानसिक मजबूती व हर प्रकार की विषम परिस्थति से सामना करने की पृवत्ति में वृद्धि हुई

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले फाइटर

अरविन्द कुमार - Best in Over All

शिवम सिंह - 1st Runner UP

धर्मेन्द्र कुमार - 2nd Runner UP and best in CFT

महिला आरक्षी संध्या पाल - लिखित परीक्षा

घनश्याम - Best in Fire Arm

संजय भारती - Best in Tactics