लखीमपुर हिंसा में दूसरी FIR पर जांच शुरू:पुलिस ने 22 लोगों को नोटिस जारी किया, 5 ने क्राइम ब्रांच में बयान दर्ज कराए

लखनऊएक महीने पहले
लखीमपुर हिंसा के मामले में दर्ज दूसरी FIR में किसानों पर आरोप लगाया गया है।

लखीमपुर हिंसा में दर्ज दूसरी FIR पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। ये FIR बीजेपी कार्यकर्ता सुमित की तरफ से दर्ज करवाई गई है। पुलिस ने हिंसा के मामले में FIR दर्ज करने के बाद 22 लोगों को नोटिस जारी किया था। इसमें से 5 लोगों ने सोमवार को क्राइम ब्रांच पहुंचकर अपना बयान दर्ज करवाया।

पुलिस ने सभी से एक ही सवाल पूछा

लखीमपुर हिंसा के मामले में दर्ज दूसरी FIR में किसानों पर आरोप लगाया गया है। पुलिस ने घटना के वीडियो और फोटो के आधार पर 22 लोगों को चिह्नित कर उन्हें नोटिस भेजा था, लेकिन ये सभी लोग अब तक फरार थे। यहां तक कि वादी खुद पुलिस के सामने नहीं आ रहा था।

सोमवार को इसमें से 5 लोग गुरुवंत सिंह, करमजीत सिंह, रूप सिंह, गुरमीत सिंह और परगट सिंह वकील के साथ बयान दर्ज करवाने क्राइम ब्रांच पहुंचे थे। उनका कहना है कि पुलिस ने सभी से केवल यही सवाल किया कि 3 अक्टूबर को तिकुनिया में क्या घटना हुई और कैसी हुई थी।

किसानों की तरफ से दर्ज मुकदमे पर था पुलिस का ध्यान

तिकुनिया कांड में अभी तक जांच टीम का ध्यान उस मुकदमे पर केंद्रित कर रखा था, जिसको किसानों की तरफ से दर्ज कराया था। उसमें केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्र को आरोपी बनाया गया है। उस एफआईआर के तहत पांच लोग अब तक गिरफ्तार हो चुके हैं। अब दूसरे मुकदमे की विवेचना भी तेज हो गई है। पुलिस न सिर्फ गवाहों से केस मजबूत कर रही है, बल्कि इलेक्ट्रॉनिक सबूतों पर भी काम कर रही है।

सूत्रों की मानें तो पुलिस ने 39 वीडियो साक्ष्य एकत्र किए हैं। इनमें घटनास्थल के वीडियो से लेकर सीसीटीवी फुटेज भी शामिल हैं। पुलिस अभी भी इलेक्ट्रानिक साक्ष्यों को जुटाने में तेजी से जुटी है।