पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एनकाउंटर में मारे गए परवेज की पत्नी फरार:शॉर्प शूटर की पत्नी रुबीना तीन साल से फरार, BSP नेता की हत्या में थी सहयोगी

अयोध्या4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
6 जून को एसटीएफ ने शॉर्प शूटर परवेज अहमद का एनकाउंटर कर मार गिराया। अंबेडकरनगर जिले की सरजमीं से जुड़ी थे परवेज की जड़ें। - Dainik Bhaskar
6 जून को एसटीएफ ने शॉर्प शूटर परवेज अहमद का एनकाउंटर कर मार गिराया। अंबेडकरनगर जिले की सरजमीं से जुड़ी थे परवेज की जड़ें।

अंडर वर्ल्ड डॉन छोटा राजन और खान मुबारक के शागिर्द रहे शॉर्प शूटर परवेज अहमद को यूपी एसटीएफ ने 6 जून को मार मुठभेड़ में मार गिराया। परवेज की जड़ें अंबेडकर नगर जिले की सरजमीं से जुड़ी थीं। खान मुबारक भी इसी जिले का निवासी है। अब पुलिस को परवेज की पत्नी रुबीना की तलाश है। बताया जा रहा है कि पुलिस उसे तीन साल से तलाश रही है। लेकिन अभी तक उसकी परछाईं भी छू नहीं सकी है। पुलिस ने उसपर 50 हजार रुपए का इनाम रखा है।

2018 में हुई जुगराम मेहंदी की हत्या में परवेज की पत्नी भी सहभियुक्त
दरअसल, 15 अक्टूबर 2018 की सुबह अंबेडकर नगर जिले में हीरापुर बाजार के पास करीब 10 बजे बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर बसपा नेता जुरगाम मेहंदी और उनके चालक सुभीजित यादव की हत्या कर दी थी। इस गोलीबारी में दो राहगीर भी घायल हो गए थे। गैंगेस्टर खान मुबारक समेत 11 लोगों के खिलाफ हत्या और साजिश की धाराओं में अंबेडकर नगर के हंसवर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। इस हत्याकांड में परवेज की पत्नी भी सहभियुक्त थी।

परवेज की पत्नी तीन साल से फरार
रुबीना से शादी के बाद परवेज अपनी ससुराल थाना हंसवर के ओझीपुर गांव में ही रहता था। 2012 से 2018 तक तीन चर्चित हत्याओं में परवेज शामिल रहा। खान मुबारक के इशारे पर किसी को मार देता था। अयोध्या रेंज के आईजी डॉ. संजीव गुप्ता ने बताया कि परवेज की पत्नी रुबीना पर 50 हजार का इनाम है और वह फरार चल रही है।

परवेज ने गोरखपुर के व्यवसायी की निर्मम हत्या की थी
नेपाल से नकली नोटों के धंधे का मास्टरमाइंड होने के साथ ही परवेज व्यापारियों से गुंडा टैक्स वसूली के लिए कुख्यात था। टांडा में तमाम गुंडा टैक्स वसूली में उसका नाम समय-समय पर सुर्खियों में शुमार रहा। अपराधी परवेज नौ अप्रैल को गोरखपुर के व्यवसायी वेदप्रकाश गुप्ता की गुंडा टैक्स न देने पर निर्मम तरीके से हत्या कर दी थी। यहीं से उसके अंत का आरंभ हो गया। बता दें, एसटीएफ की बीती शनिवार को गोरखपुर के पीपीगंज थानाक्षेत्र के सरहरी बालापुर रोड पर परवेज की आमने-सामने मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में परवेज के अपराधिक जीवन का अंत हो गया।

खबरें और भी हैं...