पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लखनऊ में वैक्सीनेशन महाअभियान का ट्रायल:बुलावा पर्ची से बढ़ेगी वैक्सीनेशन केंद्र पर लोगों की आमद, 18 साल से ऊपर के उम्र वालों को लगेगा टीका

लखनऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदेश में हर दिन औसतन 10 लाख टीका लगाने की तैयारी है। 21 जून से वैक्सीन लगाने का ट्रायल चलेगा। - Dainik Bhaskar
प्रदेश में हर दिन औसतन 10 लाख टीका लगाने की तैयारी है। 21 जून से वैक्सीन लगाने का ट्रायल चलेगा।

कोरोना वैक्सीनेशन अभियान पर शासन व प्रशासन दोनों का ही जोर है। साथ ही नई प्लानिंग के साथ अब घर-घर वैक्सीनेशन के लिए बुलावा पर्ची भेजे जाने की तैयारी है। लखनऊ में स्टॉफ की ट्रेनिंग के बाद तीन स्वास्थ्य केंद्रों पर इसका ट्रायल शुक्रवार से शुरु हो रहा है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए नर्सिंग स्टूडेंट्स तक को ट्रेनिंग दी गई है। आउटसोर्स पर भी कर्मी तैनात किए जा रहे हैं। प्रदेश में हर दिन औसतन 10 लाख टीका लगाने की तैयारी है। 21 जून से वैक्सीन लगाने का ट्रायल चलेगा। वहीं, सरकार ने 31 दिसंबर तक 18 साल से अधिक सभी का टीकाकरण करने का फैसला किया है।

बुलावा पर्ची से शुरु होगा वैक्सीनेशन का महाअभियान
वैक्सीनेशन के इस महाभियान की गाइडलाइन जनपदों में भेज दी गई है। इसमें शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में 18 साल से ऊपर के लोगों का मतदाता सूची से ब्योरा जुटाया जाना है। आबादी व भौगोलिक लिहाज से कई गांवों का क्लस्टर जोन बनेगा। यहां तीन दिन पहले शिक्षक, प्रधान, लेखपाल, आशा आदि कर्मियों का मोबिलाइजेशन ग्रुप टीका को लेकर जागरूक करेगा। वैक्सीनेशन के लाभार्थियों का साइट पर पंजीकरण भी होगा। 19 जून तक जागरूकता प्रसार अभियान चलेगा। 21 जून से ट्रायल शुरू होगा। यह 30 जून तक चलेगा। इसके बाद जुलाई में हर रोज 10 लाख टीका लगाने का लक्ष्य पूरा किया जाएगा। लखनऊ में भी गुरुवार को भी जागरूकता कार्यक्रम टीम द्वारा काम किया गया।

तीन केंद्रों पर शुरु होगा ट्रायल
सीएमओ लखनऊ डॉ. संजय भटनागर के अनुसार, राजधानी के मोहनलालगंज, गोसाईगंज, एनके रोड पर महाअभियान का ट्रायल होगा। शुक्रवार को इन सेंटरों के अंतर्गत आने वाले इलाकों में बुलावा पर्ची बांटी जाएगी। तय तारीख पर पहुंचने वाले लाभार्थी का सेंटर पर ऑन द स्पॉट पंजीकरण करके वैक्सीनेशन किया जाएगा।

लोकबंधु में शुरु हुई ओपीडी सेवाएं
कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बाद से लोकबंधु अस्पताल में बंद चल रही ओपीडी सेवाएं गुरुवार से बहाल हो गई। सुबह 8 बजे से ओपीडी शुरू हो गई। हालांकि, अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों की संख्या काफी कम रही। उधर अस्पताल प्रशासन की ओर से वैक्सीनेशन के लिए अलग काउंटर बनाए गए थे। सीएमएस अमिता यादव के अनुसार गुरुवार से ओपीडी की शुरुआत हो गई है। मरीज सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...