पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चित्रकूट की बैठक में RSS का बड़ा प्लान:राम मंदिर के लिए चंदा देने वाले करोड़ों परिवारों के घर-घर जाकर धन्यवाद जताएंगे संघ कार्यकर्ता

लखनऊ/ चित्रकूट10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) की तरफ से चित्रकूट में आयोजित मंथन शिविर समाप्त हो चुका है। यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले यह शिविर कई मायनों में खास रहा और कई मुद्दों पर मंथन हुआ है। बैठक के अंतिम दिन मंगलवार को संघ ने राम मंदिर मुद्दे को चुनाव तक गरम रखने के लिए कार्यकर्ताओं को उन 12.70 करोड़ परिवारों के घर-घर जाने को कहा है, जिन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा दिया है।

कोरोना काल में कार्यकर्ताओं की सक्रियता काफी कम हो गई थी। इसके लिए लंबे समय से बंद संघ की शाखाओं को शुरू करने का निर्देश दिया था। अब संघ ने कार्यकर्ताओं के करोड़ों घरों तक पहुंचने का प्लान तैयार किया है।

वैचारिक विस्तार की संभावनाएं तलाश रहा संघ

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए देश के लगभग 12 करोड़ 70 लाख परिवारों ने आर्थिक योगदान दिया है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) का मानना है कि राम मंदिर निर्माण के लिए एक भी रुपए का योगदान देने वाला परिवार या व्यक्ति किसी न किसी रूप में हिंदुत्व की विचारधारा से प्रभावित है।

दरअसल, संघ इन परिवारों और लोगों के बीच अपने वैचारिक विस्तार की संभावनाएं देख रहा है। जल्दी ही संघ एक अभियान चलाकर इन परिवारों से संपर्क कर उन्हें किसी न किसी रूप में अपने साथ जोड़ने की कोशिश करेगा।

बैठक के अंतिम दिन संघ ने किया वृक्षारोपण

चित्रकूट धर्मनगरी आरोग्यधाम में चल रही संघ की बैठक के अंतिम दिन मंगलवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत ने वृक्षारोपण कर वातावरण शुद्ध करने का संदेश दिया। इसके बाद संघ प्रमुख ने दीनदयाल शोध संस्थान के कर्मचारियों के साथ भी बैठक की। बैठक के बाद मोहन भागवत चित्रकूट से सतना के लिए रवाना हो गए।

चित्रकूट में हुई संघ की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। आज बैठक का अंतिम दिन था।
चित्रकूट में हुई संघ की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। आज बैठक का अंतिम दिन था।

छवि पर दुविधा, शाखाएं अनलॉक करने पर विचार हुआ

संघ की बैठक में धर्म परिवर्तन और जनसंख्या के खिलाफ कानून बनाने के मुद्दों पर चर्चा हुई है। कोरोना में शाखाओं पर लगी रोक के बाद अब इन्हें सामान्य माहौल में फिर से शुरू करने की प्रक्रिया को लेकर भी हुई थी। दरअसल, पांच राज्यों के चुनाव को देखते हुए शाखाओं की तालाबंदी नुकसानदेह साबित हो सकती है। लिहाजा, शाखाओं को कोरोना प्रोटोकॉल के साथ कैसे शुरू किया जाए, इसको लेकर भी एक चाक चौबंद प्लान बनाने की दिशा में चर्चा हुई।

पांच दिवसीय बैठक में 50-55 लोग शामिल, 250 वर्चुअली जुड़े

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक बैठक में क्षेत्र प्रचारक और प्रांत प्रचारक शामिल हुए। 9-10 जुलाई को 11 क्षेत्रों के क्षेत्र प्रचारक शामिल हुए तो 12 जुलाई को देशभर के 45 प्रांतों के प्रांत प्रचारकों एवं सह प्रांत प्रचारकों ने हिस्सा लिया। कुल मिलाकर 50-55 लोग चित्रकूट पहुंचे और करीब 250 लोग वर्चुअली इससे जुड़े।

खबरें और भी हैं...