• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • After Noida And Greater Noida, Now There Is Rigging In Giving Temporary Connections In Lucknow, Preparations For Action Against Half A Dozen Engineers

अस्थायी कनेक्शन में भ्रष्टाचार का खेल लखनऊ तक पहुंचा:नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बाद अब लखनऊ में अस्थायी कनेक्शन देने में धांधली, आधा दर्जन इंजीनियरों पर कार्रवाई की तैयारी

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ में अस्थायी कनेक्शन देने में बड़ी धांधली। - Dainik Bhaskar
लखनऊ में अस्थायी कनेक्शन देने में बड़ी धांधली।

अस्थायी कनेक्शन का फर्जी वाड़ा अब नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बाद लखनऊ पहुंच गया है। यहां भी पिछले दो साल में दिए गए कनेक्शन की जांच की गई। इसमें कई गड़बड़िया होने का दावा किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि जांच रिपोर्ट में लखनऊ के कई इंजीनियर फर्जी तरीके से कनेक्शन देने के दोषी पाए गए है। अब इसकी रिपोर्ट पावर कॉर्पोरेशन तक पहुंचा दी गई है। उम्मीद है कि वहां रिपोर्ट जाने के बाद कुछ लोगों पर कार्रवाई तय है।

विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि जो इलाके शहर के आउटर में हैं, वहां सबसे ज्यादा गड़बड़िया मिली है। इसमें गोमती नगर विस्तार, तेलीबाग , चिनहट बक्शी का तालाब, रहीमनगर, और वृंदावन जैसे प्रमुख इलाके शामिल है। यहां भी बिल्डरों को फायदा देने के लिए लोगों को गलत तरीके से कनेक्शन दिया गया है। उनका बिल भी कम किया गया है। ऐसे में विभाग को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। कम लोड पर अधिक बिजली का इस्तेमाल करवाया गया। बताया जा रहा है कि प्रदेश स्तर पर इस पूरे खेल में 80 से 100 करोड़ रुपए तक का विभाग को नुकसान हो सकता है।

नोएडा में छह दोषी पाए गए

नोएडा मामले में अभी तक छह इंजीनियर दोषी पाए गए हैं। आरोप है कि इनकी वजह से विभाग को करीब 10 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इस रिपोर्ट के आधार पर जल्द ही ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लखनऊ के जिन डिवीजनों में गड़बड़ियां पाई गई हैं, उस दौरान के इंजीनियरों पर ही कार्रवाई होगी। इसमें निलंबन से लेकर बर्खास्तगी तक की कार्रवाई हो सकती है।

खबरें और भी हैं...