• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • After The Cycle Yatra In UP, There Is A Big Preparation To Surround The Yogi Government Through SP's 'Save Constitution Sankalp Yatra' And 'Janadesh Yatra'.

UP में सपा की 'यात्रा पॉलिटिक्स':साइकिल यात्रा के बाद सपा की 'संविधान बचाओ' और 'जनादेश यात्रा'के जरिए योगी सरकार को घेरने की तैयारी, सरकार की खामियां गिनाएंगे

लखनऊ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समाजवादी पार्टी ने यात्राओं के जरिए अपने माहौल में पक्ष बनाने में जुटी है। - Dainik Bhaskar
समाजवादी पार्टी ने यात्राओं के जरिए अपने माहौल में पक्ष बनाने में जुटी है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब 5 माह बचे हैं। ऐसे में भाजपा समेत सभी दल मिशन 2022 में जुट गए हैं। भाजपा जन आशीर्वाद यात्रा के जरिए आशीर्वाद मांग रही है तो बसपा ब्राह्मणों को एक जुट करने के लिए 'प्रबुद्ध सम्मेलन' कर रही है। कांग्रेस भी 'जय भारत महासंपर्क अभियान' के तहत जमीन पर उतर रही है। ऐसे में समाजवादी पार्टी यात्राओं के जरिए अपने पक्ष में माहौल बनाने में जुटी है।

सपा की 28 जिलों में 'पटेल यात्रा' जारी है, और आज से 'संविधान बचाओ-संकल्प यात्रा' शुरू कर रही है। कल यानी बुधवार से ‘जनादेश यात्रा‘ भी शुरू होगी। सपा इससे पहले अखिलेश यादव की अगुवाई में 'साइकिल यात्रा' निकाल चुकी है।

समाजावादी पार्टी अपनी इन तीन यात्राओं के जरिए भाजपा की पोल खोलने के साथ ही अखिलेश यादव के शासन काल में हुए कामों को भी जनता को बताएगी। साथ ही इन यात्राओं के जरिए सूबे की योगी सरकार की नाकामियों को गिनाने का काम भी करेगी।

सपा की 'संविधान बचाओ-संकल्प यात्रा'

सपा अधिवक्ता सभा प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था और उससे उपजे संवैधानिक संकट से जनता को जागरुक करने के लिए 'संविधान बचाओ-संकल्प यात्रा' निकाल रही है। इसका आयोजन आठ चरणों में होगा। आज लखनऊ से शुरू होकर यह यात्रा शाहजहांपुर, बरेली, रामपुर जाएगी। 1 सितंबर को मुरादाबाद से होते हुए बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद पहुंचेगी। 2 सितंबर को संभल और सहारनपुर, 3 सितंबर सहारनपुर, शामली, कैराना और मुजफ्फरनगर, 4 सितंबर को मुजफ्फरनगर, बागपत और मेरठ में यात्रा पहुंचेगी।

सपा अपनी जनादेश यात्रा के जरिए योगी सरकार की नाकामियों को जनता के बीच रखेगी।
सपा अपनी जनादेश यात्रा के जरिए योगी सरकार की नाकामियों को जनता के बीच रखेगी।

'जनादेश यात्रा' के जरिए जनता से संवाद करेगी सपा

अखिलेश यादव के नेतृत्व में 2022 में समाजवादी सरकार बनाने के लिए समाजवादी की ‘जनादेश यात्रा‘ भी कल यानी 1 सितंबर से शुरू होगी। के तहत भ्रमण-जनसम्पर्क कार्यक्रम का आयोजन होगा। योगी सरकार की नाकामियों को गिनाने, दलितों-पिछड़ों के संवैधानिक अधिकारों, बेरोजगारी ,किसान आत्महत्या,महिला उत्पीड़न और बलात्कार की घटनाओं से यूपी की खराब छवि को जनता के सामने रखेगी। जनादेश यात्रा इन्हीं उद्देश्यों के साथ जनसंवाद करेगी।

जनसंवाद के लिए 28 दिनों तक चलेगी 'जनादेश यात्रा'

जनादेश यात्रा की शुरुआत 1 सितंबर को पीलीभीत से होकर 2 सितंबर को शाहजहांपुर, 4 सितंबर को बहराइच-श्रावस्ती, 5 सितंबर को बलरामपुर-गोंडा, 8 सितंबर को सोनभद्र, 9 सितंबर को मिर्जापुर, 10 सितंबर को भदोही, 11 सितंबर को प्रयागराज, 12 सितंबर को फतेहपुर, 13 सितंबर को प्रतापगढ़, 15 सितंबर को जौनपुर, 16 सितंबर को वाराणसी, 17 सितंबर को गाजीपुर, 18 सितंबर को चंदौली, 21 सितंबर को लखीमपुर खीरी, 22 सितंबर को सीतापुर, 23 सितंबर को हरदोई, 24 सितंबर को उन्नाव, 26 सितंबर को रायबरेली, 27 सितंबर को अमेठी और 28 सितंबर को सुल्तानपुर में समापन होगा।

सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल की अगुवाई में चल रही है किसान पटेल यात्रा।
सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल की अगुवाई में चल रही है किसान पटेल यात्रा।

जारी है सपा की किसान पटेल यात्रा

29 अगस्त को सीतापुर से शुरू हुई किसान पटेल यात्रा 64 दिनों में 46 जिलों में जाएगी। इसका समापन 31 अक्टूबर को प्रयागराज में होगा। समाजवादी पार्टी किसानों, मजदूरों व नौजवानों के मुद्दों को लेकर 'किसान नौजवान पटेल यात्रा' निकाल रही है। सात चरणों की इस यात्रा की अगुवाई सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल कर रहे हैं। सपा इसके जरिए भाजपा की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ विभिन्न जिलों में खेत, खलिहान, कुटीर उद्योग बचाओ, रोजगार दो आदि मुद्दों को लेकर सरकार को घेरेगी। सपा इस यात्रा के जरिए लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल को भी याद कर रही है। इसलिए यात्रा का समापन 31 अक्टूबर उनकी जयंती के दिन होगा।