प्रापर्टी हड़पने के लिए फर्जीवाड़ा:एनआरआई की मौत के बाद केयरटेकर ने फ्लैट का करा लिया फर्जी बैनामा, पत्नी की रिपोर्ट पर पुलिस ने किया गिरफ्तार

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चौक निवासी माविया हसन - Dainik Bhaskar
चौक निवासी माविया हसन

राजधानी के अलीगंज थानाक्षेत्र में फ्लैट के फर्जी बैनामे का ऐसा मामले सामने आया है जिसमे मालिक की मौत के बाद केयरटेकर ने उसे हड़पने की साजिश रची। अमेरिका में रहने वाले कारोबारी की मौत के बाद उनकी पत्नी लौटकर लखनऊ पहुंची तो फ्लैट में किसी और का ताला लगा मिला। पत्नी की तहरीर पर केस दर्ज कर पुलिस ने जांच की तो फर्जीवाड़े की पोल खुली। शनिवार को अलीगंज पुलिस ने आरोपी केयरटेकर को गिरफ्तार कर लिया।

अलीगंज के पुरनिया निवासी स्वर्गीय प्रमोद बिहारी लाल और उनकी पत्नी पुष्पांजलि लाल 1987 से अमेरिका में रह रहे हैं। प्रमोद ने एल्डिको बिल्डर से अलीगंज में एक फ्लैट खरीदा था। दो साल पहले प्रमोद की हर्ट अटैक से मौत हो गई। इसपर पुष्पांजलि वापस लखनऊ आ गई। वह अपने फ्लैट पर पहुंची तो किसी और का ताला लगा हुआ मिला। पूछताछ करने पर पता चला कि प्रमोद ने जिस चौक निवासी माविया हसन को फ्लैट की रखवाली दी थी उसी ने ताला लगाया है। छानबीन करने पर पता चला कि उसने फ्लैट की रजिस्ट्री अपने नाम करवा लिया है। इसपर पुष्पांजलि ने अलीगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई।

फूलचंद्र को प्रमोद बनाकर करवाया फर्जी बैनामा

अपने ही शहर में बेघर होकर भटक रही पुष्पांजलि ने एल्डिको बिल्डर के कार्यालय जाकर पता लगाया तो जानकारी मिली कि बिल्डर ने प्रमोद के अलावा किसी और को फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं की है। इसपर वह तहसील पहुंची जहां पता चला कि किसी फूलचंद को प्रमोद बनाकर उसके जरिए फ्लैट की रजिस्ट्री माविया हसन के नाम की गई है। पुलिस की जांच में भी फर्जीवाड़ा खुलकर सामने आ गया। इंस्पेक्टर अलीगंज पन्नेलाल यादव ने बताया कि माविया हसन को गिरफ्तार कर पुष्पांजलि को उनके फ्लैट का कब्जा दिलवा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...