अजीत सिंह हत्याकांड:शूटर गिरधारी के एनकाउंटर बाद लखनऊ पुलिस ने पूर्व MP धनंजय सिंह को बनाया साजिशकर्ता; जारी हुआ वारंट

लखनऊ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व सांसद धनंजय सिंह और अजीत सिंह (फाइल फोटो)। - Dainik Bhaskar
पूर्व सांसद धनंजय सिंह और अजीत सिंह (फाइल फोटो)।
  • 13 फरवरी को पुलिस से मुठभेड़ में मारा गया था गिरधारी
  • उसी ने अजीत सिंह हत्याकांड का मुख्य साजिशकर्ता पूर्व सांसद धनंजय सिंह को बताया था

राजधानी लखनऊ में बीते महीने हुए पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड में पुलिस ने पूर्व सांसद व बाहुबली नेता धनंजय सिंह को हत्या की साजिश रचने का आरोपी बनाया है। वहीं, CJM लखनऊ की कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है। हाल ही में मुठभेड़ में मारे गए शूटर गिरधारी ने ही पुलिस के सामने बयान दिया था कि अजीत की हत्या का पूरा प्लान धनंजय सिंह का था।

पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट
दरअसल, अजीत सिंह हत्याकांड में वांछित अपराधी गिरधारी 11 जनवरी को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था। दिल्ली से लखनऊ जेल में शिफ्ट होने के बाद पुलिस को CJM कोर्ट से 3 दिन की कस्टडी रिमांड पूछताछ के लिए मिली थी। गिरधारी 13 फरवरी से 16 फरवरी तक 3 दिन की पुलिस रिमांड पर लखनऊ पुलिस की कस्टडी में रहना था। 13 फरवरी की रात गिरधारी विश्वकर्मा को हत्या में प्रयुक्त असलहा की बरामदगी लिए गोमतीनगर के विनीत खंड में सहारा हॉस्पिटल के पीछे ले जाया जा रहा था। जहां पुलिस अभिरक्षा से भागने की कोशिश में मारा गया था।

पुलिस का दावा है कि मुठभेड़ के पहले पूछताछ में गिरधारी ने अजीत सिंह हत्याकांड का मुख्य साजिशकर्ता पूर्व सांसद धनंजय सिंह को बताया था। पुलिस ने इस मामले में मृतक अजीत सिंह की पत्नी के भी बयान दर्ज किए हैं। गिरधारी सिंह का एनकाउंटर होने के बाद पुलिस ने पूरे मामले की रिपोर्ट CJM कोर्ट में दाखिल की और उसके बाद कोर्ट ने वारंट जारी किया है।

शूटर गिरधारी।-फाइल फोटो
शूटर गिरधारी।-फाइल फोटो

यह है पूरा मामला?
बीते 5 जनवरी 2021 को राजधानी के विभूति खंड थाना क्षेत्र के पॉश इलाके कठौता चौराहे पर मऊ जिले के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस दौरान अजीत का साथी मोहर सिंह व एक फूड डिलीवरी कंपनी का कर्मचारी घायल हुआ था। इस प्रकरण में आजमगढ़ के बाहुबली कुंटू सिंह, अखंड सिंह के अलावा गिरधारी के खिलाफ नामजद FIR दर्ज की गई थी। पुलिस ने इस शूटआउट में तीन मददगारों को दबोचा था। जबकि शूटर संदीप सिंह को भी पकड़ा जा चुका है। कुंटू सिंह व अखंड सिंह से भी पुलिस पूछताछ कर चुकी है।