• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Mayawati Nephew Akash Anand Take Command UP Elections: Mayawati Nephew Akash Anand Is Constantly Taking Feedback, Will Be Active In The State From 5 October

मायावती के भतीजे को मिली UP चुनाव की कमान:आकाश आनंद लगातार ले रहे हैं फीडबैक, 5 अक्टूबर को गाजीपुर में बसपा युवा संवाद के जरिए करेंगे नई पारी की शुरुआत

लखनऊ4 महीने पहलेलेखक: प्रवीण राय
बसपा मुखिया मायावती भतीजे आकाश आनंद के साथ- फाइल

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के भतीजे और नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद लंबे इंतजार के बाद यूपी में सक्रिय होने जा रहे हैं। गाजीपुर में 'बसपा युवा संवाद' कार्यक्रम से वह यूपी 2022 मिशन का आगाज करेंगे। 5 अक्टूबर को होने वाले इस कार्यक्रम में प्रदेश भर से युवाओं की फौज इकट्ठा होगी। आकाश आनंद के साथ बसपा के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा के बेटे कपिल मिश्रा भी शामिल हो सकते हैं।

बसपा ने हाल ही में 'बसपा युवा संवाद' नाम से एक नई कैंपेन की शुरुआत की है। जिसकी कमान फिलहाल कपिल मिश्रा संभाले हुए हैं। जैसा कि नाम से ही जाहिर है, इसमें युवाओं से संवाद किया जा रहा है। मायावती के शासन काल में हुए कार्यों के बारे में जानकारी दी जा रही है। युवाओं को बसपा से जोड़ने की रणनीति तैयार की जा रही है। जिससे कि 2022 के विधानसभा चुनावों में बसपा को बड़ी सफलता मिल सके।

ऐसा माना जा रहा है कि आकाश आनंद के दिल्ली से आने के बाद यूपी में सियासी सरगर्मी और बढ़ेगी। कुछ नए कैंपेन की शुरुआत भी की जा सकती है।

युवाओं को टिकट में मिलेगी तरजीह
बसपा ने इस बार अपने सियासी दांव पेंच में बदलाव किया है। इस बार 2022 के विधानसभा चुनाव में युवाओं को तरजीह दी जाएगी। बसपा के लोगों का दावा है कि इस बार करीब 50 फीसदी टिकट युवाओं को दिए जाएंगे। इसी को लेकर बसपा युवा संवाद का आयोजन किया जा रहा है। उनसे फीडबैक लिया जा रहा है। दावेदारों की लिस्ट तैयार की जा रही है। बूथों की जिम्मेदारी भी युवाओं के कंधे पर ही होगी।

यूपी में आकाश आनंद ने युवाओं की एक टीम भेजी है जो लगातार उनको रिपोर्ट कर रही है। - फाइल फोटो
यूपी में आकाश आनंद ने युवाओं की एक टीम भेजी है जो लगातार उनको रिपोर्ट कर रही है। - फाइल फोटो

पंजाब में कई कार्यक्रम कर चुके हैं आकाश
बसपा यूपी के साथ-साथ पंजाब समेत दूसरे राज्यों में भी अपना फोकस बनाए हुए हैं, जहां पर विधानसभा के चुनाव होने हैं। पंजाब में बसपा ने अकाली दल के साथ गठबंधन किया है। बतौर नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद के कंधों पर मायावती ने बड़ी जिम्मेदारी दे दी है। वो दिल्ली के साथ पंजाब में खूब सक्रिय रहे हैं। पिछले दिनों आकाश आनंद ने पंजाब में कई जनसभाएं की हैं। बसपा के संस्थापक कांशीराम के परिवार से मुलाकात भी की है। अब वो एक बार फिर यूपी की राजनीति में सक्रियता बढ़ाने जा रहे हैं। इसकी तैयारियां जोरों पर हैं।

यूपी का लगातार फीडबैक ले रहे आकाश
हालांकि, दिल्ली में रहने के बाद भी यूपी की सियासत पर आकाश आनंद बखूबी नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने हाल ही में यूपी के युवाओं को दिल्ली बुलाकर उनसे संवाद कर चुके हैं। इस कार्यक्रम में आकाश आनंद ने पांच-पांच युवाओं के समूह से मिलकर व्यक्तिगत बात की है। यूपी के सियासी समीकरणों, संभावनाओं और सुधारों पर उनसे लिखित रिपोर्ट मांगी है। उसके बाद उस पर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

यूपी में आकाश की टीम कर रही काम
सूत्रों की मानें तो यूपी में आकाश आनंद ने युवाओं की एक टीम भेजी है जो लगातार उनको रिपोर्ट कर रही है। पर्दे के पीछे से काम कर रही यह टीम यूपी में बसपा की परिस्थितियों को लेकर हर रोज रिपोर्ट दे रही है। हालांकि इस टीम को फिलहाल गुप्त रखा गया है, जिससे कि किसी की नजर ना पड़े।

सूत्रों का दावा है कि शोधार्थियों से लैस यह टीम लगातार अनुभवी लोगों से संपर्क कर रही है। पुराने बसपाइयों से मुलाकात कर रही है। प्रोफेसर आदि से सियासी समीकरणों को समझ रही है और ये सारे इनपुट को आकाश से साझा किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...