यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए दाखिल किया नामांकन:अखिलेश यादव और शरद पवार समेत 15 दलों के नेता दिखे एक साथ

लखनऊ5 महीने पहले
विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने नामांकन दाखिल किया।

विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा सोमवार को अपना नामांकन दाखिल किया। उनके नामांकन के समय उन्हें समर्थन की घोषणा करने वाले 15 से अधिक विपक्षी दलों के नेता भी मौजूद रहे। इसमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के नेता और तेलंगाना के मंत्री के टी रामाराव, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद अभिषेक बनर्जी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, आरएलडी के प्रमुख जयंत चौधरी मौजूद थे। नामांकन के बाद राहुल गांधी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि ये विचारधारा की लड़ाई है।

दिल्ली में यशवंत सिन्हा के समर्थन में विपक्षी दलों के साथ अखिलेश यादव।
दिल्ली में यशवंत सिन्हा के समर्थन में विपक्षी दलों के साथ अखिलेश यादव।

यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रपति पद के दाखिल किया नामांकन

विपक्षी दलों के नेता सोमवार को संसद भवन की एनेक्सी में पहुंचे‚ फिर वे एक साथ ही राज्यसभा महासचिव के कक्ष में गए। विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा दिन में सवा बारह बजे नामांकन दाखिल किया। इसके बाद यशवंत सिन्हा समर्थन करने वाले विपक्षी दलों के नेताओं के साथ विजय चौक पर प्रेस से बात की।

यह फोटो यशवंत सिन्हा के नामांकन के दौरान की है। जब विपक्षी दल संसद भवन की एनेक्सी में पहुंचे थे।
यह फोटो यशवंत सिन्हा के नामांकन के दौरान की है। जब विपक्षी दल संसद भवन की एनेक्सी में पहुंचे थे।

विपक्षी उम्मीदवार के नामांकन से एक दिन पहले जब एनसीपी नेता शरद पवार से पूछा गया कि विपक्ष के पास उम्मीदवार को जिताने के लिए बहुमत नहीं है तो उन्होंने कहा कि यह हार–जीत से ज्यादा सिद्धांत की लड़ाई है। उन्होंने कहा‚ "अपने उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को अधिक समर्थन दिलाने के लिए विपक्षी दलों को ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी। राहुल गांधी शरद पवार समेत ये नेता रहेंगे मौजूद कांग्रेस से राहुल गांधी‚ राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे‚ राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समेत पांच वरिष्ठ नेता उपस्थित रहेंगे। एनसीपी से शरद पवार‚ प्रफुल्ल पटेल आएंगे।"

साल 2018 में यशवंत सिन्हा ने छोड़ी थी भाजपा

बता दें कि सिन्हा ने 2018 में भारतीय जनता पार्टी छोड़ दी थी, पिछले साल टीएमसी में शामिल हुए थे। उधर, एनडीए के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने 24 जून को चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल किया था। भारत के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 18 जुलाई को होना है।